Tuesday, May 17, 2022
Homeउज्जैनउज्जैन:मामला दवा बाजार से लाखों रुपए की दवा चोरी होने और बाजार...

उज्जैन:मामला दवा बाजार से लाखों रुपए की दवा चोरी होने और बाजार में बिकने का

  • बिचोलिए धमका रहे मेडिकल स्टोर्स संचालकों को

उज्जैन। दवा बाजार में तीन स्टॉकिस्टों के यहां स्टॉक के मिलान के दौरान दवाईयां कम निकलने तथा सीसीटीवी कैमरों की मदद से नीलगंगा थाना पुलिस द्वारा तीन पूर्व कर्मचारियों को पकडऩे के बाद चोरी की दवाई बेचने के मामले में पुलिस ने देवास के मेडिकल स्टोर्स संचालक को हिरासत में लिया है।

इसके बाद कतिपय लोगों द्वारा देवास और उज्जैन के मेडिकल संचालकों तक यह बात पहुंचवाई जा रही है कि आपका भी नाम सुना गया है, देख लो…? इस बात की शिकायत उज्जैन आईजी, डीआयजी और एसपी तक पहुंच गई है। एसपी उज्जैन के अनुसार मामले में पूरी पारदर्शिता बरती जा रही है। किसी को बेवजह परेशान नहीं किया जाएगा।

दवा बाजार में मुसद्दीपुरा निवासी अभय जैन की अभय एजेंसी नाम से दुकान है। वे जब दवाओं के स्टॉक का मिलान कर रहे थे तो चौंके कि लाखों रुपए की दवाई स्टॉक रजिस्टर में थी लेकिन पैकेट्स कम निकले। उन्होने जब सीसीटीवी केमरे के फुटेज खंगाले तो पूर्व कर्मचारी चोरी करते नजर आया। उन्होने नीलगंगा थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई। यह खबर लगने पर अन्य स्टॉकिस्टों ने भी मिलान किया तो दो ओर स्टॉकिस्टों के यहां दवाई कम निकली। पुलिस को इन्होने बताया कि मामला करीब 50 लाख रुपये की दवाइयों का है।

विवेचना के दौरान नीलगंगा थाना पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया। नीलगंगा थाना पुलिस के अनुसार प्राथमिक पूछताछ में तीनों नें देवास के एक मेडिकल स्टोर्स संचालक जिसका नाम लाला नाम बताया। उसे पकड़ा तो उसने चोरी की दवाईयां खरीदना और बेचना स्वीकारा। हालांकि अभी यह पुलिस का दावा है।

सूत्रों का कहना है कि इस पूरे मामले में कुछ बिचोलिए सक्रिय हो गए हैं। ये बिचोलिए अपने स्तर पर, सोशल मीडिया के माध्यम से यह बात फैला रहे हैं कि इस मामले में देवास और उज्जैन के मेडिकल स्टोर्स संचालक शामिल है। साथ ही कतिपयों के पास सूचना पहुंचवाई जा रही है कि तुम्हारा भी नाम लिया है, देख लो। इस देख लो शब्द को सुनने के बाद देवास में कई मेडिकल स्टोर्स संचालकों में दहशत फैल गई है। उनका आरोप है कि हमारा नाम जबरन घसीटा गया तो सामाजिक बदनामी हो जाएगी, जबकि हम तो संलिप्त है ही नहीं। कतिपयों को आशंका है कि कॉम्पिटिशन के चलते कुछ लोगों को फंसवाया जा सकता है। उज्जैन पुलिस लगातार इस मामले में देवास में दखल बनाए हुए है।

टीआई बोले- मामले में पारदर्शिता बरती जाएगी
इस संबंध में थाना प्रभारी तरूण कुरील को फोन लगाया गया तो उन्होने रिसिव नहीं किया। एसपी सत्येंद्र शुक्ल से चर्चा की गई तो उन्होने कहा कि पूरे मामले में पारदर्शिता बरती जाएगी। अभी तीन आरोपियों से पूछताछ के बाद देवास के एक मेडिकल स्टोर्स संचालक को हिरासत में लिया गया है। उससे भी पूछताछ की जाएगी। यदि किसी मेडिकल स्टोर्स संचालक को कोई बिचोलिया धमकाता है या बरगलाता है तो सीधे सम्पर्क करें। ऐसे तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। रें:शुक्ला

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर