Friday, May 27, 2022
Homeउज्जैनकालिदास समारोह : शंकर महादेवन आज उज्जैन में

कालिदास समारोह : शंकर महादेवन आज उज्जैन में

कालिदास समारोह संगीतकार और गायक शंकर महादेवन की प्रस्तुति आज

खुले मंच पर कार्यक्रम, वीआईपी के लिए 500 सीट रिजर्व…पर कौन बैठेगा तय नहीं

KH 1

प्रशासन ने कहा व्यवस्था बनाएंगे…अकादमी निदेशक बोले- परिचय और पहचान से प्रवेश

उज्जैन।अभा कालिदास समारोह में मंगलवार को संगीतकार और गायक शंकर महादेवन अपनी प्रस्तुति देंगे। कार्यक्रम सभी के लिए खुला है, पर अकादमी प्रशासन ने वीआईपी के लिए करीब 500 कुर्सी आरक्षित रखने का निर्णय लिया है। पर इस रिजर्व जोन में किसे आने दिया जाएगा और किसे प्रवेश नहीं मिलेगा यह तय नहीं है। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि पुलिस के साथ प्रवेश की व्यवस्था बनाएंगे। कालिदास अकादमी निदेशक का कहना है कि परिचय और पहचान से प्रवेश दिया जाएगा।

गायक शंकर महादेवन के कार्यक्रम के लिए कालिदास अकादमी प्रशासन द्वारा 2500 कुर्सियों के इंतजाम किए जा रहे है। तीन मेगा स्क्रीन लगेगी। अकादमी के यूट्यूब पर लाईव प्रसारण किया जाएगा। 2500 कुर्सियों में से 500 स्थान वीआईपी के लिए रिर्जव रखी जाएगी। इसमें सबसे बड़ा सवाल यह कि वीआईपी कौन….? दरअसल अकादमी ने समारोह के लिए सभी को आमंत्रित किया है। वर्चुअल निमत्रंण दिए है। इसमें प्रवेश के लिए कार्ड की अनिवार्यता भी नहीं है।

आम और खास (वीआईपी) अंतर कैसे
शंकर महादेवन शास्त्रीय और देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति देंगे। खासतौर से सुनो गौर से दुनिया वालों…सबसे आगे होंगे हिंदुस्तानी गीत सुनाएंगे। उनकी प्रसिद्घि को देख कार्यक्रम संकुल हाल में न कराकर खुले मैदान में कराने की तैयारी की गई है। मुक्ताकाश मंच के सामने एक भव्य मंच बनाया गया है, जहां लोगों के बैठने के लिए कुर्सियां भी लगाई हैं। एक वीआईपी जोन भी होगा। ऐसे में शंकर महादेवन कार्यक्रम में आम और खास (वीआईपी) अंतर कैसे और कौन करेगा। अकादमी प्रशासन का कहना है बड़ी और प्रमुख प्रस्तुति के दौरान पुलिस और प्रशासन द्वार भीड़ नियंत्रण के साथ अन्य प्रबंध की प्लानिंग की जाती है। इसके लिए अधिकारियों को अवगत करा दिया है,लेकिन अकादमी ने प्रशासन के पास ऐसी कोई प्लानिंग नहीं दी है,जबकि संभागायुक्त समारोह की स्थानीय समिति के उपाध्यक्ष और कलेक्टर सचिव है।

अकादमी परिसर और तरणताल बगीचे में लगाई गई मेगा स्क्रीन

GH 1

मौजूद रहेंगे अधिकारी

एडीएम संतोष टेगौर के अनुसार बैठक व्यवस्था का अरेजमैंट अकादमी द्वारा तय किया गया है। अकादमी के सहयोग और व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रशासनिक अधिकारी पुलिस अधिकारी और बल के साथ मौजूद रहेंगे।

अलग से कोई पास जारी नहीं…

अकादमी निदेशक संतोष पंड्या ने बताया वीआईपी के लिए अलग से कोई आमंत्रण या पास की व्यवस्था नहीं की है। अकादमी स्टॉफ और प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों की उपस्थिति में परस्पर परिचय और पहचान से प्रवेश दिया जाएगा। प्रेस को उनकी संस्थान द्वारा जारी परिचय-पत्र से प्रवेश मिल जाएगा।
सीधे कार्यक्रम में आएंगे शंकर महादेवन: संगीतकार और गायक शंकर महादेवन कार्यक्रम से कुछ देर पहले शाम करीब 7.00 बजे सीधे कालिदास अकादमी आएंगे।

युवाओं में खासे लोकप्रिय महादेवन
शंकर महादेवन युवाओं में खासे लोकप्रिय है। शंकर-एहसान-लॉय तिहरी का हिस्सा है। शंकर महादेवन को चार बार राष्ट्रीय फि़ल्म पुरस्कार, जिसमें तीन बार सर्वश्रेष्ठ पुरुष पाश्र्वगायक के लिए और एक बार सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक के लिए दिया जा चुका है। सन 2019 में उन्हें भारत सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया। महादेवन ने शंकर महादेवन अकादमी की स्थापना की, जो दुनिया भर के संगीत के छात्रों को ऑनलाइन भारतीय संगीत सिखाता है। 2015 में, उन्होंने मराठी फि़ल्म कटयार कलजात घुसली में एक अभिनेता के रूप में पहली बार अभिनय करते नजर आये थे,जो कि 1960 के दशक के प्रसिद्ध नाटक का रूपांतर था। उन्होंने तमिल, मराठी, हिंदी, कन्नड़ और अंग्रेजी भाषा में गीत गाये है। उनका पहला एलबम ब्रीथलेस था, जिसमें उन्होंने एक सांस में गाने गाए थे।

कभी-कभी जिंदगी का एक फैसला हमारे जीवन को पूरी तरह से बदलकर रख देता है. अपने अंदर की क्षमताओं को दबाकर रखने की जगह अगर उन्हें आजाद पंक्षी की तरह उडऩे दिया जाए तो वह ज्यादा दूर तक जा सकती हैं। जो इस बात को समझ जाते हैं वह सफलता की कहानियों को लिखने में समर्थ हो जाते हैं। शंकर महादेवन ने कुछ ऐसा ही किया। शंकर ने इंजीनियरिंग करने के बाद अच्छी जगह की जॉब को छोड़कर अपने हुनर को अपना प्रोफेशन बनाया।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर