Wednesday, May 18, 2022
Homeउज्जैनउज्जैन : जेल में बंद कैदियों को चरस देकर उनके घर से...

उज्जैन : जेल में बंद कैदियों को चरस देकर उनके घर से रुपये लेने जाते थे प्रहरी

दो प्रहरियों ने कैदियों के नामों का किया खुलासा..

अक्षरविश्व प्रतिनिधि.उज्जैन। केन्द्रीय जेल भेरूगढ़ में अनियमितताओं के खुलासे लगातार हो रहे हैं। वहीं जेल अधीक्षिका ने रविवार को दो प्रहरियों द्वारा कैदियों को चरस उपलब्ध कराते हुए रंगे हाथों पकड़ा। साथ ही इनके साथी को भी आरोपी बनाते हुए तीनों को सस्पेंड करने की कार्यवाही की गई। तीनों प्रहरियों ने जेल अधीक्षिका के सामने अपना जुर्म न सिर्फ कबूल किया, बल्कि उन्हें लिखित में भी दिया है।

केन्द्रीय जेल भेरूगढ़ में बंद कैदियों को मोबाइल, नशा व अन्य साधन उपलब्ध कराने की जानकारी लंबे समय से बाहर आ रही थी। नई जेल अधीक्षिका उषा राज ने अनियमितता करने वालों पर नजर रखना शुरू किया तो वे चोरी छिपे अपने कामों को अंजाम देने लगे। रविवार को निकली कालभैरव की सवारी का पालकी पूजन जेल के गेट पर होता है। जेल अधीक्षिका उषा राज सहित अन्य स्टाफ इसी व्यवस्था में लगा था जिसका फायदा उठाकर जेल प्रहरी ने मुंह में चरस छिपाकर कैदी तक पहुंचाने की योजना बनाई, लेकिन उसे गेट कीपर उईके ने रंगे हाथों दबोच लिया। इसी बीच जेल अधीक्षिका भी अपने कैबिन में पहुंच गईं तो उन्होंने चरस छुपाकर जेल में जाने का प्रयास कर रहे प्रहरी शाहरूख को भी पकड़ा जिसे दूसरे प्रहरी को चरस पकड़ा दी।

अपनी गलती लिखकर कबूल किया जुर्म
कैदियों को चरस उपलब्ध कराने के मामले में पकड़ाये तीनों प्रहरियों ने अपने अलग-अलग लिखित बयान देकर जेल अधीक्षिका उषा राज के सामने जुर्म भी कबूल किया। उन्होंने जेल अधीक्षिका को बताया कि वह कैदियों को उनकी डिमांड के अनुसार चरस उपलब्ध कराते थे और नशे के रुपये उनके घर से लेने जाते थे। जिन कैदियों को वह नशा उपलब्ध कराते थे उनके नाम भी जेल अधीक्षिका
को बताये।

वर्षों से चल रहा था धंधा
जेल में बंद कैदियों को नशा उपलब्ध कराने के अलावा उन्हें मोबाइल की सुविधा व अन्य कारनामे पहले से जारी थे। दोनों प्रहरियों ने जेल अधीक्षिका को बताया कि पूर्व अफसरों की जानकारी में कैदियों को उक्त सुविधाएं दी जाती रहीं हैं जिसके बदले मोटी रकम भी ली जाती थी।

और भी लोग हैं शंका के घेरे में
जेल अधीक्षिका उषा राज ने चर्चा में बताया कि तीनों प्रहरियों को सस्पेंड कर दिया गया है। अब उनके खिलाफ थाने में एफआईआर भी कराई जायेगी। सुश्री राज ने बताया कि अभी और भी लोग शंका के घेरे में हैं जिन्हें रंगे हाथों पकडने के प्रयास किये जा रहे हैं।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर