Thursday, June 30, 2022
Homeउज्जैनउज्जैन : माधवनगर थाना प्रभारी बोले-सीनियर ऑफिसर्स के सुपरविजन में होगी जांच

उज्जैन : माधवनगर थाना प्रभारी बोले-सीनियर ऑफिसर्स के सुपरविजन में होगी जांच

धारा 307 लगाने पर दिक्कत में पुलिस, मामला नरवर के झाला परिवार का…

उज्जैन। माधवनगर पुलिस ने हमले में घायल एक व्यक्ति रिपोर्ट पर मारपीट व हमले की रिपोर्ट दर्ज की। एक सप्ताह के भीतर जांच के आधार पर हमलावर पक्ष के खिलाफ धारा 307 बढ़ा दी गई। इस मामले की जब संबंधित पक्ष को जानकारी लगी तो पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से मिलकर घर के सीसीटीवी फुटेज देकर बोले- देख लो हम घर में थे।

नरवर निवासी संभ्रांत परिवार के सदस्यों के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा में केस दर्ज होने के मामले में परिवार के कुछ सदस्यों ने आईजी और एसएसपी से मिलकर उनके घर लगे सीसीटीवी का फुटेज भी सौंपा और कहा कि हम घर में मौजूद थे तो फिर हमला कैसे कर सकते हैं।

झाला परिवार के पृथ्वीसिंह ने बताया काफी समय से राज परिवार में जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। इसमें आरिफ नामक व्यक्ति जिसने रिपोर्ट की वह प्रॉपर्टी की दलाली का काम करता है। उसने जो परिवार के चार सदस्यों पर हमले का आरोप लगाया और रिपोर्ट की, उस समय परिवार के उक्त सदस्य घर में थे।  फुटेज सहित अन्य प्रमाण पुलिस को दिए हैं। जांच में सच्चाई सामने आ जाएगी। फुटेज समेत अन्य सबूत पेश करते ही आईजी संतोष सिंह व एसएसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने मामले में जांच के निर्देश दे दिए। इसके बाद माधवनगर पुलिस शाम को घटना के 15 दिन बीत जाने के बाद रजिस्ट्रार कार्यालय के आसपास सीसीटीवी फुटेज चैक करने पहुंची।

यह है प्रकरण
दरअसल मामला यह है कि खोखरिया गांव निवासी आरिफ पटेल ने 27 अप्रैल को माधवनगर पुलिस को रिपोर्ट दर्ज कराई कि शाम 4.30 बजे उस पर रजिस्ट्रार कार्यालय के समीप रघुवीर सिंह, हेमावत सिंह, रामचरण, जैसपाल ने यह कहते हुए कि तू हमारी जमीन लेना छोड़ दे, गले पर चाकू से वार कर सभी भाग निकले।

घटना के बाद माधवनगर पुलिस ने घायल आरिफ की रिपोर्ट पर मारपीट व हमले की रिपोर्ट दर्ज की। एक सप्ताह के भीतर जांच के आधार पर धारा 307 बढ़ाई गई। उक्त घटना को लेकर आईजी व एसएसपी के पास पहुंचे प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि पुलिस ने बिना जांच के गंभीर धारा भी बढ़ा दी, जबकि हमें तो इस तरह की घटना के बारे में भी पांच दिन बाद किसी अन्य व्यक्ति के माध्यम से पता चला।

फरियादी की रिपोर्ट असत्य तो वैधानिक कार्रवाई करेंगे

माधवनगर थाना प्रभारी मनीष लोधा ने बताया फरियादी ने जो घटना बताई उस आधार पर पुलिस ने केस दर्ज किया। अभी मामला जांच में है। आरोपी पक्ष द्वारा घटना को झूठा बताते हुए कुछ तथ्य व वीडियो फुटेज अधिकारियों को दिए गए हैं। इस पूरे मामले की जांच सीनियर ऑफिसर्स के सुपरविजन में होगी।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर