Saturday, December 9, 2023
Homeउज्जैन समाचारउज्जैन मास्टर प्लान में संशोधन का मामला, 20 आपत्तियां और सुझाव दर्ज

उज्जैन मास्टर प्लान में संशोधन का मामला, 20 आपत्तियां और सुझाव दर्ज

जीवनखेड़ी, दाउदखेड़ी की जमीन आरक्षित करने का प्रस्ताव

उज्जैन मास्टर प्लान में संशोधन का मामला, 20 आपत्तियां और सुझाव दर्ज

अक्षरविश्व न्यूज. उज्जैन:मास्टर प्लान में संशोधन को लेकर करीब 20 आपत्तियां और सुझाव नगर तथा ग्राम निवेश दफ्तर पहुंच गए हैं, जिनमें कुछ किसानों ने जमीन को कृषि उपयोग की करने का विरोध दर्ज कराया है। 22 जुलाई तक लोग सुझाव और आपत्तियां प्रस्तुत कर सकते हैं। इस कारण यह संख्या और बढऩे की संभावना है।

मास्टर प्लान को लागू करने से पहले सरकार द्वारा सिंहस्थ 2028 को ध्यान में रखते हुए इसमें संशोधन कराया जा रहा है। कस्बा उज्जैन सहित सावराखेड़ी गांव की 148 हेक्टेयर जमीन को आवासीय से वापस कृषि भूमि करने की प्रक्रिया की जा रही है। इसी क्रम में प्लान को नगर तथा ग्राम निवेश कार्यालय में सुझाव और आपत्ति के लिए चस्पा किया गया है

सावराखेड़ी के कुछ किसानो ने आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा है कि इस भूमि को आवासीय किया जाए क्योंकि इससे उनको रोजगार नहीं मिल सकेगा। कई लोगों ने यह सुझाव भी दिया है कि सिंहस्थ यहां आयोजित होना है तो जीवनखेड़ी और दाउदखेड़ी गांव की जमीन को भी आवासीय न किया जाए।

23 जुलाई तक सरकार के पास जाएंगी आपत्तियां

प्लान की आपत्तियों और सुझाव के बाद 23 जुलाई को सरकार के पास भेजा जाएगा। इसके बाद सरकार आखिरी निर्णय लेगी कि मास्टरप्लान में प्रस्तावित 148 हेक्टेयर जमीन आवासीय होगी या सिंहस्थ के लिए कृषि उपयोग ही रखा जाएगा। हालांकि इस संशोधन को लेकर राजनीतिक हलचल भी बढ़ गई हैं।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर