Thursday, June 30, 2022
Homeउज्जैनउज्जैन-वैशाखी पूर्णिमा: श्रद्धालुओं ने किया शिप्रा में स्नान

उज्जैन-वैशाखी पूर्णिमा: श्रद्धालुओं ने किया शिप्रा में स्नान

बुद्ध जयंती पर निकली प्रभातफेरी,

महाकाल मंंदिर में भी भक्तों की भीड़

उज्जैन।वैशाख मास की पूर्णिमा पर सोमवार को मोक्षदायिनी शिप्रा के विभिन्न घाट पर स्नान के लिए श्रद्धालुओं का जमावड़ा सुबह से लगा रहा। स्नान के बाद देवदर्शन किए। इस कारण महाकाल सहित अन्य मंदिरों में भीड़ रही, वहीं सोमवार को बुद्ध पूर्णिमा पर सुबह प्रभात फेरी भी निकाली गई। धार्मिक अनुष्ठान किए गए।

वैशाख मास की पूर्णिमा को शिप्रा स्नान व दान पुण्य का विशेष महत्व है। जो श्रद्धालु पूरे वैशाख मास में तीर्थ स्नान व दान नहीं कर पाए वे पूर्णिमा पर स्नान दान कर पूरे मास का धर्मलाभ ले रहे हैं।

सुबह से ही शिप्रा के रामघाट, दत्त अखाड़ा सहित अन्य घाटों पर पर श्रद्धालु स्नान कर रहे हैं। वहीं पूर्णिमा पर सिद्धवट पर तर्पण आदि करने के लिए भी बड़ी संख्या में लोग बाहर से आए हैं। वैशाखी पूर्णिमा को भेरू पूर्णिमा भी कहा जाता है।

आज मंदिरों के साथ ही घरों में भेरूजी का पूजन कर चूरमे का भोग लगाया। इधर भरतपुरी स्थित इस्कान मंदिर में वैशाख पूर्णिमा पर नौ दिवसीय नौका महोत्सव का शुभारंभ हो रहा है। प्रतिदिन शाम 4.30 से रात 8 बजे तक भगवान राधा मदन मोहन को नौका विहार कराया जाएगा। भगवान के नौका विहार के लिए मंदिर परिसर में 80 फीट लंबे तथा 30 फीट चौड़े नरेंद्र सरोवर का निर्माण किया गया है। आज शाम 4.30 बजे नौका में विराजित भगवान की पूजा अर्चना के साथ उत्सव की शुरुआत होगी। मंदिर प्रबंधन द्वारा भक्तों के लिए नौका विहार दर्शन की विशेष व्यवस्था की गई है।

भगवान गौतम बुद्ध की 2566वीं जयंती

महाकारूणिक तथागत गौतम बुद्ध की 2566वीं जयंती आज दि. बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया शाखा, प्रबुद्ध महिला संगठन एवं बुद्ध विहार निर्माण समिति के तत्वावधान में मनाई जा रही है। रविवार को कानीपुरा बौद्ध महास्तूप पर दीप प्रज्जवलित कर दीपदान किया गया।

वहीं आज सुबह प्रभातफेरी निकली जो मक्सी रोड स्थित अशोक बुद्ध विहार से शहीद पार्क होते हुए, टॉवर चौक स्थित बाबा साहेब आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर बुद्ध विहार में पहुंची। इसके बाद बुद्ध वंदना की गई। आज शाम को भी बुद्ध विहार में कार्यक्रम होंगे।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर