Sunday, May 22, 2022
Homeउज्जैनउज्जैन : 304 दिनों में 3963 लोग डॉग बाइट का शिकार

उज्जैन : 304 दिनों में 3963 लोग डॉग बाइट का शिकार

जानवरों के काटने पर औसतन 12 से 13लोग जिला अस्पताल पहुंचते हैं इंजेक्शन लगवाने के लिए

अक्षरविश्व प्रतिनिधि.उज्जैन। शहर और आसपास के क्षेत्र औसतन प्रतिदिन 12 से 13 लोग श्वान का शिकार हो जाते हैं। जिला अस्पताल में जनवरी 202१ से अक्टूबर 2021 तक तीन हजार 963 डॉग बाइट के मामले आए। हालांकि पिछले कुछ महीनों से यह आंकड़ा बढ़ रहा है। शहर में आवारा श्वानों की संख्या भी पहले के मुकाबले बढ़ी है।
उज्जैन में एकाएक डॉग बाइट बढऩे से लोग परेशान हो रहे हैं। बड़ी संख्या में श्वान द्वारा काटने के बाद जिला अस्पताल पहुंच रहे हैं। अस्पताल पहुंचने वालों की कई बार तो एक दिन में 25 से ज्यादा संख्या हो रही है। जिला अस्पताल के रिकॉर्ड के मुताबिक 10 महीने में 3963 घटनाएं सामने आ चुकी है। यानि रोजाना करीब 12 से 13 लोग अस्पताल पहुंचे हैं। जानकारों के अनुसार कोरोनाकाल में श्वानों को मिलने वाला खाना और आम लोगों से मिलने वाला विश्वास कम हुआ है। इसके चलते श्वानों के व्यवहार में बदलाव देखने को मिल रहा है। शहर की कई पॉश कॉलोनी के रहवासी नगर निगम में रोजाना श्वानों को पकडऩे की शिकायत दर्ज करवा रहे हैं। ऋषिनगर, महानंदा नगर, महाश्वेता नगर, वेद नगर, नानाखेड़ा सहित अन्य कॉलोनियों के रहवासी श्वान के काटने के बाद जिला अस्पताल पहुंच रहे हैं। उज्जैन में लगातार श्वान के काटने की घटना से लोग डरे हुए हैं।

जिला अस्पताल की जानकारी के अनुसार पिछले दो माह से डॉग बाइट की घटनाएं बढ़ी है। इसके चलते पहले के मुकाबले रोजाना मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। कई बार तो एक दिन में 25 से 30 केस भी आ जाते हैं। अस्पताल में श्वान के काटने पर लगने वाला इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में है।

ऐसे बचे डॉग बाइट से

  • यदि श्वान आपके पीछे भागे तो डरे नहीं, वहीं रुक जाएं। खासकर बच्चों को यह बात समझाना होगी।
  •  अपने आसपास के श्वानों को कुछ खाने का जरूर दें, ताकि वे भूखे न रहे। इससे वे आक्रामक नहीं होंगे।
  • यदि किसी श्वान के बर्ताव में बदलाव दिखे, तो तुरंत नगर निगम को सूचना दें।
  • कार या मोटरसाइकिल के पीछे भागने वाले श्वानों को देखकर वाहन की गति को थोड़ा धीरे कर लें।

अन्य पशुओं की बाइट के मामले

ऐसा नहीं कि जिला अस्पताल में एनिमल बाइट वैक्सीन के लिए केवल डॉग बाइट के प्रभावित आते है। जानकारी अनुसार बीते 10 माह में डॉग बाइट के 3963 प्रकरण के अलावा केट बाइट के 49 मंकी बाइट के 25और अन्य एनिमल बाइट की 75 घटनाएं सामने आई है।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर