Sunday, May 22, 2022
Homeउज्जैनउज्जैन:5 लाख के जेवरों से भरा सूटकेस देवासगेट बस स्टैण्ड से हुआ...

उज्जैन:5 लाख के जेवरों से भरा सूटकेस देवासगेट बस स्टैण्ड से हुआ चोरी

पुलिस ने ड्रायवर-कंडक्टर को 24 घंटे में सूटकेस तलाशने की मोहलत दी

उज्जैन।रतलाम से इंदौर में आयोजित शादी समारोह में शामिल होने जा रहे दंपत्ति का 5 लाख से अधिक के जेवरों से भरा सूटकेस देवास बस स्टेण्ड पर इंदौर जाने के लिये खड़ी आनंदेश्वर ट्रेवल्स की बस की डिक्की से अज्ञात बदमाश ने चोरी कर लिया। खास बात यह कि पुलिस ने मामले में केस दर्ज न करते हुए ड्रायवर और कंडक्टर को 24 घंटे में सूटकेस तलाश कर लाने की मोहलत दी है।

प्रज्ञा पोरवाल पति आशीष पोरवाल निवासी बामनिया रतलाम सोमवार को डेमू ट्रेन से पति के साथ उज्जैन स्टेशन पर उतरीं। उन्हें शादी समारोह में शामिल होने इंदौर जाना था। प्रज्ञा ने बताया कि हम लोग इंदौर जाने के लिये देवासगेट बस स्टेण्ड पर खड़ी आनंदेश्वर ट्रेवल्स की बस में बैठे।

पति आशीष ने स्वयं डिक्की के पास खडे होकर कंडक्टर से दो सूटकेस डिक्की में रखवाये। दोपहर में बस सीधे इंदौर के मरीमाता चौराहे पर रूकी। प्रज्ञा और आशीष बस से उतरे और कंडक्टर से सूटकेस निकालने को कहा। कंडक्टर ने एक सूटकेस निकालकर दिया। उन्होंने कहा कि दो सूटकेस रखे थे दूसरा सूटकेस कहां है तो कंडक्टर ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया।

बस मालिक और परिजनों को सूचना दी

प्रज्ञा पोरवाल ने बताया कि चोरी हुए सूटकेस में 5 तौला वजनी सोने का हार, पांच तौला वजनी सोने की चैन, पायल, सोने के टाप्स, नगदी रूपये और कीमती साडिय़ां रखीं थीं। बस की डिक्की से सूटकेस चोरी होने की सूचना बस मालिक व उज्जैन में रहने वाले परिजनों को दी। परिजन देवासगेट थाने पहुंचे लेकिन पुलिस ने उन्हें कहा कि फरियादी के उज्जैन आने के बाद ही रिपोर्ट दर्ज करेंगे, जबकि बस मालिक ने कहा कि जिस बस में बैठकर इंदौर गये थे वही बस उज्जैन आयेगी और उसी बस में बैठकर उज्जैन आना।

सीसीटीवी फुटेज में दिखा बदमाश

प्रज्ञा पोरवाल ने बताया कि आनंदेश्वरी की उसी बस में बैठकर शाम को देवासगेट थाने आये। यहां बस मालिक के साथ मिलकर सीसीटीवी फुटेज तलाशे जिसमें एक युवक जेवरों से भरा सूटकेस डिक्की से उतारते हुए दिख रहा है लेकिन उसकी पहचान नहीं हो पाई है।

देवासगेट बस स्टेण्ड पर खडी बस की डिक्की से पांच लाख से अधिक के जेवरों से भरा सूटकेस चोरी होने के मामले में टीआई राममूर्ति शाक्य ने बताया कि मुझे मामले की पूरी जानकारी नहीं है, जांचकर्ता अधिकारी से पूछकर बता पाउंगी, जबकि प्रज्ञा पोरवाल ने बताया कि पुलिस ने बस ड्रायवर और कंडक्टर को 24 धंटे में सूटकेस तलाश कर लाने की मोहलत देकर छोड दिया है।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर