Friday, September 29, 2023
Homeउज्जैन समाचारकितना भी विश्वसनीय व्यक्ति हो अपना पासवर्ड नहीं बताए

कितना भी विश्वसनीय व्यक्ति हो अपना पासवर्ड नहीं बताए

इंटरनेट बैंकिंग सिक्योर नहीं तो हो सकते हैं ठगी के शिकार

कितना भी विश्वसनीय व्यक्ति हो अपना पासवर्ड नहीं बताए

अक्षरविश्व न्यूज. उज्जैन:मालिक को धोका देकर उसके ही मोबाइल से ट्रांजेक्शन कर बैंक खाते से 10 लाख से अधिक रु. निकालने का मामला सामने आने के बाद यह तथ्य सामने आया है कि इंटरनेट बैंकिंग सिक्योर नहीं है,तो कोई भी ठगी का शिकार हो सकता है। इसके लिए जरुरी है कि कितना भी विश्वसनीय व्यक्ति हो उसे पासवर्ड नहीं बताए।

सायबर सेल पुलिस उज्जैन ने बी. कॉम ग्रेजुएट एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है,जिसने अकाउंटेंट का काम करने के दौरान मालिक के खाते से लाखों रुपए उड़ा दिए। आरोपी बैरागढ़ का मूल निवासी है और उज्जैन में रहकर इंदौर से सीए कर रहा था। आरोपी कुणाल कटारिया पिता हेमन्त कटारिया को सुरेश रंगवानी ने अकाउंटिंग के लिए नौकरी पर रखा था।

आरोपी ने सुरेश रंगवानी को मोबाइल फोन से ऑनलाइन लेन-देन करते समय फोन का पासवर्ड, इंटरनेट बैंकिंग का आईडी पासवर्ड और ट्रांजेक्शन एप का पिन देख लिया था। कामकाज अच्छा होने से सुरेश रंगवानी ने कुणाल पर अधिक भरोसा कर लिया और कुणाल ने इसी का फायदा उठाकर मालिक के ही फोन से उनके ट्रांजेक्शन एप और इंटरनेट बैंकिंग एप का उपयोग कर बैंक खातों से 10,30,000 रु. ट्रांसफर कर ऑनलाइन ठगी की।

पुलिस अधीक्षक राज्य सायबर पुलिस,जोन उज्जैन डॉ.रश्मि खरिया के मुताबिक डिजिटल इंडिया के दौर में अधिकतम लेनदेन अब ऑनलाइन माध्यम से किया जा रहा है। इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग का क्रेज भी बढ़ रहा है। पहले लगभग सभी काम ऑफलाइन ही होते थे,तो अब ज्यादातर काम ऑनलाइन ही होते हैं।

किसी को पैसे भेजने हों, अपना बैंक बैलेंस चेक करना हो, एटीएम कार्ड ऑर्डर करना हो या लोन के लिए आवेदन करना हो। ऐसे में अगर आप भी इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको इसे सिक्योर रखना चाहिए, वरना धोखाधड़ी करने वाले मिनटों में आपका बैंक खाता खाली करके आपको चपत लगा सकते हैं।

ऐसे करें इंटरनेट बैंकिंग सिक्योर

पासवर्ड मजबूत रखें:नेट बैंकिंग का पासवर्ड मजबूत रखना चाहिए। कभी भी हल्का पासवर्ड न बनाएं। जैसे- 12345678 जैसे पासवर्ड या अपना नाम पासवर्ड में नहीं रखें।

थर्ड पार्टी एप कभी इस्तेमाल नहीं करें : नेट बैंकिंग का इस्तेमाल एप के जरिए मोबाइल करते हैं, तो भूलकर भी किसी थर्ड पार्टी एप के जरिए ऐसा नहीं करें। वरना ठगी के शिकार भी हो सकते हैं। हमेशा बैंक के आधिकारिक एप पर ही लॉगिन करें।

लॉगिन हर जगह नहीं करें : नेट बैंकिंग को किसी के सिस्टम या मोबाइल में लॉगिन भूलकर भी नहीं करें। अपने सिक्योर सिस्टम या मोबाइल में ही इसे लॉगिन करें।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर