Wednesday, May 18, 2022
Homeरिलेशनशिपनई-नई शादी में नवदंपति रखें इन बातों का खास ध्यान

नई-नई शादी में नवदंपति रखें इन बातों का खास ध्यान

शादीशुदा जीवन को खुशहाल बनाने के लिए शादी के शुरुआती दिनों का बेहतर होना भी जरूरी होता है। शादी के बाद नए नवेले बने पति और पत्नी को एक दूसरे को समझना होता है। उनकी शादी के शुरुआती दिनों में अगर एक दूसरे के प्रति उनका इम्प्रेशन अच्छा होता है, तो जीवन में आने वाले दिन आसान लगने लगते हैं।

अगर नई नई शादी में कुछ गलत बात हो जाती है, तो मन में जीवनभर के लिए खटास बढ़ जाती है। इसलिए नवदंपति के लिए जरूरी होता है कि उनकी शादी के बाद सब कुछ बेहतर हो। इसके लिए दंपति को एक दूसरे के बारे में जानना चाहिए। जीवन में हो रहे बदलावों को सकारात्मकता के साथ अपनाना चाहिए। साथ ही पति और पत्नी को शादी के शुरुआती दौर में गलतफहमियां या गलतियों की गुंजाइश से बचने के लिए कुछ बातों का खास ध्यान देना चाहिए।

एक दूसरे से करें बातचीत

किसी भी रिश्ते में दरार या दूरी आने की एक वजह खुलकर बातचीत न करना होता है। कोई पुरुष और महिला जब शादी के बंधन में बंधते हैं तो हो सकता है कि वह एक दूसरे से ज्यादा परिचित न हों। अक्सर अरेंज मैरिज में दूल्हा और दुल्हन एक दूसरे को अच्छे से नहीं जानते। इसलिए दोनों को खुलकर बातचीत करने की जरूरत होती है, ताकि वह एक दूसरे की आदतों और पसंद नापसंद को समझ सकें। जब वह अपनी भावनाएं आपस में शेयर करते हैं तो कई तरह की गलतफहमियां भी दूर हो जाती हैं।

न करें अधिक रोक टोक

शादी होने से पहले तक लड़का और लड़की अपने मनमुताबिक जीवन जी रहे होते हैं। लेकिन शादी के बाद कई दोनों का जीवन बदल जाता है। ऐसे में उन्हें नए जीवन में ढलने का मौका और समय चाहिए होता है। इस बीच एक दूसरे को स्पेस देना चाहिए। अपने पार्टनर पर रोक टोक न लगाएं। ऐसा करने से आपका पार्टनर आपके दूरी बना सकता है। अगर आपको उनकी कोई बात गलत लग रही है या आप उन्हें किसी काम को करने से रोकना चाहते हैं तो उन्हें समझाने का प्रयास करें।

एडजस्ट होने के लिए दें वक्त

नई नई शादी हुई है तो पार्टनर को एक दूसरे के साथ एडजस्ट करने में दिक्कत हो सकती है। एक दूसरे के साथ रहने या उन्हें समझने में वक्त भी लग सकता है। इस बीच आपको ये उम्मीद नहीं रखनी चाहिए कि आपका पार्टनर आपके मनमुताबिक रहे। उसे इस नए रिश्ते में एडजस्ट करने का समय दें। इससे आप दोनों के बीच बेहतर समझदारी विकसित होगी।

खुद भी एडजस्ट करना सीखें

खुशहाल शादीशुदा जीवन के लिए जरूरी है कि अगर आप अपने पार्टनर से कुछ उम्मीदे रखते हैं, तो उनकी उम्मीदों को भी पूरा करें। रिश्ते में दोनों को एडजस्ट करना होता है। इसलिए उन्हें एडजस्ट करने का समय दे रहे हैं तो खुद भी एडजस्ट करें। अपने पार्टनर के लिए नई नई शादी के बंधन को आसान बनाने की कोशिश करें। उन्हें स्पेस दें। जैसे आपको उनसे बात करनी है तो अपनी मर्जी के मुताबिक कभी भी पार्टनर से बात करने की कोशिश करने के बजाए उनके समय के मुताबिक बातचीत करें। ताकि वह आप से मन से बात कर सकें।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर