Sunday, September 24, 2023
Homeकृषि (Agriculture)मध्यप्रदेश कृषि में महिलाओ की भागीदारी (मापवा) योजना

मध्यप्रदेश कृषि में महिलाओ की भागीदारी (मापवा) योजना

मध्य प्रदेश में कृषि में महिलाओं की भागीदारी (मापवा) योजना लड़कियों और महिलाओं को कृषि क्षेत्र में शामिल करने की पहल है। इस योजना के अंतर्गत, महिलाओं को कृषि उपकरण व विकसित तकनीक और पशुपालन आदि के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है। यह योजना महिलाओं को स्वयं खेती करने के लिए प्रेरित करती है और उन्हें कृषि उपज बेचकर आर्थिक रूप से मज़बूत बनाने में मदद करती है।

मापवा योजना के लाभ:

इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को कृषि उपकरण व विकसित तकनीक, पशुपालन आदि के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है। यह सब्सिडी कृषि उपकरण खरीद करने व विकसित तकनीक का उपयोग करने में महिलाओं को सहायता देती है। इसके अलावा, इस योजना के अंतर्गत स्वयं कृषि करने की योजना बनाने व इसे कृषि विकास के लिए प्रचारित करने के लिए महिलाओं को शिक्षा दी जाती है।

चयन कैसे होता है?

एक ग्रामीण कृषि विकास अधिकारी क्षेत्र के 2 से 4 ग्रामों में से प्रशिक्षण के लिये 25 कृषक महिलाओं का चयन करेंगे। यह कृषि योग्य भूमि, सिंचाई के साधन, पशुधन आदि सूचकों को आधार मानकर लघु सीमांत परिवारों की 50 महिला कृषकों का सर्वे करके किया जाता है | 

योजना में भाग लेने के लिए स्थानीय ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से सम्पर्क किया जा सकता है | जिले के उप संचालक कृषि कार्यालय में पदस्थ नोडल अधिकारी (मापवा) को दायित्व दिया गया है |

इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण के दौरान ही 10 से 15 महिलाओं का एक समूह बनाया जाता है। यह स्वं सहायता समूह के नाम से जाना जाता है। 

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर