Wednesday, October 4, 2023
Homeउज्जैन समाचारमाशिमं की 10वीं-12वीं परीक्षा में पहली बार बारकोड सिस्टम

माशिमं की 10वीं-12वीं परीक्षा में पहली बार बारकोड सिस्टम

विद्यार्थियों को नहीं मिलेंगी अतिरिक्त कॉपियां, यह होंगे फायदे

उज्जैन। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में इस बार कई बदलाव किए जा रहे है। इस साल परीक्षा में विद्यार्थियों को अतिरिक्त कॉपियां नहीं दी जाएगी। उन्हें एक ही उत्तर पुस्तिका में पूरा प्रश्न पत्र हल करना होगा। हालांकि इस बार 20 पेज के बदले एक ही 32 पेज की मुख्य उत्तरपुस्तिका छात्र-छात्राओं को दी जाएगी।

दरअसल, परीक्षा के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी या हेरफेर ना हो, इस कारण मंडल इस बार पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर 10वीं के तीन विषयों और 12वीं में एक विषय की उत्तर पुस्तिका में बारकोड सिस्टम लागू कर रहा है। इससे उन विद्यार्थियों को राहत मिलेगी, जिनकी कापियों में बदलाव होने के कारण कम अंक मिलते थे। इस बार 20 पेज के बदले उत्तरपुस्तिकाएं 32 पेजों की होगी, जिससे विद्यार्थियों को अतिरिक्त कापियां नहीं लेनी पड़ेंगी। वहीं प्रायोगिक परीक्षा में 10वीं के विद्यार्थियों को आठ एवं 12वीं के छात्र-छात्राओं को 12 पेज की कापी मिलेगी।

इन विषयों की कापी में होगा बारकोड

माशिमं के अधिकारियों ने बताया कि इस वर्ष 10वीं के गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान एवं 12वीं में अंग्रेजी विषय की उत्तरपुस्तिकाओं में बारकोड लागू किया गया है। अभी तक कापियों पर स्टीकर लगाए जाते थे। इससे कोई भी स्टीकर निकाल देता था। इस साल इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू किया जा रहा है। वहीं अतिरिक्त कापियों को लेकर पिछले तीन वर्ष की कापियों के अध्ययन के बाद 32 पेज की कापी करने का निर्णय लिया गया है। अध्ययन में पाया गया कि इन वर्षों में किसी भी विद्यार्थी ने तीन से ज्यादा अतिरिक्त कापी नहीं ली है।

गड़बड़ी पर रोक लगेगी

  • उत्तरपुस्तिकाओं में बारकोड होने से गड़बड़ी पर रोक लगेगी।
  • मूल्यांकनकर्ता पहचान नहीं पाएंगे कि किस विद्यार्थी की कापी है।
  • अतिरिक्त कापी बदल जाने या खोने की आशंका खत्म होगी।
  • विद्यार्थियों को 20 की जगह 32 पेज की कापी मिलेगी, जो कि तीन अतिरिक्त कापी के बराबर होगी
  • चार सेट में पेपर तैयार होने से नकल पर रोक लगेगी।
जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर