Monday, January 30, 2023
Homeउज्जैन समाचारविद्युत उपभोक्ताओं के जेब पर बोझ की तैयारी

विद्युत उपभोक्ताओं के जेब पर बोझ की तैयारी

नई बिजली दर में प्रति यूनिट 19 पैसे बढ़ाने का प्रस्ताव

दावे-आपत्ति के लिए 10  दिन का समय…

उज्जैन। आने वाले समय में विद्युत उपभोक्ताओं के जेब पर बोझ बढ़ सकता है। बिजली कंपनियां प्रदेश के मध्यम वर्ग के बिजली उपभोक्ताओं पर आर्थिक बोझ डालने की तैयारी कर रही है। इसमें प्रति यूनिट दर में 19 पैसे और नियत प्रभार में एक रुपए की वृद्धि का प्रस्ताव दिया गया है। मप्र विद्युत नियामक आयोग ने दिए गए प्रस्ताव पर दावे-आपत्ति बुलाई हैं। अगले 10 दिन में आयोग के भोपाल स्थित भवन में सुझाव, आपत्ति दर्ज करवा सकते है।

बता दें कि बिजली कंपनी ने बिजली के दाम बढ़ाने का जो प्रस्ताव मप्र विद्युत नियामक आयोग को दिया है उसमें 150 से 300 यूनिट के भीतर मासिक खपत वालों के दाम बढ़ाए हैं। सीधे तौर पर 19 पैसे की बढ़ोतरी की गई है। इसके अलावा नियत प्रभार के नाम पर एक रुपये और बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है। यदि इस प्रस्ताव को अमल में लिया गया तो प्रदेश के इस श्रेणी में आने वाले 10 लाख उपभोक्ता सीधे तौर पर इससे प्रभावित होने का अनुमान है।

मध्यम वर्ग के उपभोक्ताओं पर सर्वाधिक असर

बिजली कंपनी ने इस साल 150 से ऊपर का स्लैब खत्म कर दिया है। वर्तमान में 151 से 300 यूनिट खपत वाले उपभोक्ताओं को 6.55 रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली के दाम देने पड़ रहे हैं। नई याचिका में बिजली कंपनी ने 151 यूनिट के ऊपर एक दाम तय किया है।

इससे ऊपर खपत करने वाले उपभोक्ता से 6.74 रु दाम लेने का प्रस्ताव दिया है। इस वजह से जहां 300 यूनिट से ज्यादा मासिक खपत करने वाले उपभोक्ताओं को इसका खास असर नहीं होगा लेकिन 151 से 300 की खपत करने वाले उपभोक्ताओं को सीधे तौर पर 19 पैसे प्रति यूनिट की दर से अधिक दाम चुकाने पड़ेंगे। कंपनी मध्यम वर्ग को निशाना बना रही है। जबकि 300 यूनिट से अधिक मासिक खपत वाले उपभोक्ताओं की संख्या बहुत कम है। जिनके ऊपर इसका कोई खास असर नहीं होगा।

वर्तमान में बिजली की दरें

50 यूनिट तक खपत- 4.21 रु.

51-150 यूनिट खपत- 5.17 रु.

151- 300 यूनिट खपत- 6.55 रु.

301 से ऊपर खपत- 6.74 रु.

प्रस्तावित बिजली की दरें

50 यूनिट तक- 4.34 रु.

51- 150 यूनिट तक- 5.33 रु.

151 से ऊपर यूनिट – 6.74 रु.

जानकारी बिजली कंपनी के अनुसार

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर