हरसिद्धि मंदिर के कपाट बंद किए

 उज्जैन- कोरोना वायरस संक्रमण के कारण महाकाल मंदिर में तो श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद किया गया है लेकिन शक्तिपीठों में से एक हरसिद्धि मंदिर के कपाट ही बंद कर दिए गए हैं। मंदिर प्रबंध समिति प्रबंधक अवधेश जोशी ने बताया कि पुजारीगण सीमित संख्या में जाकर नित्य पूजन एवं आरती करेंगे। जोशी के अनुसार मंदिर अति प्राचीन है और ५२ शक्तिपीठों में से एक हैं। संभवत: ऐसा पहली बार ही हुआ होगा जब मंदिर के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए हैं। हालांकि कोरोना वायरस के दिन प्रतिदिन बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

मंगलनाथ मंदिर में भी श्रद्धालुओं पर रोक लगी– इधर मंगलनाथ मंदिर में भी श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। प्रबंध समिति के प्रबंधक नरेन्द्र राठौर ने अक्षरविश्व को बताया कि शनिवार को दोपहर में आयोजित बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया है। प्रवेश शुरू करने के संबंध में स्थिति देखने के बाद ही फैसला लिया जाएगा।

बता दें कि मंदिर में भातपूजा करने पर पहले ही रोक लगा दी गई थी। राठौर के अनुसार मंदिर में समिति का एक कर्मचारी ही रहेगा और एक पुजारी को ही प्रतिदिन आरती-पूजन करने के लिए कहा गया है ताकि कोरोना वायरस जो फैला है उसे फैलने से रोका जा सके।