Monday, January 30, 2023
Homeकरियरमध्यप्रदेश में होगी 20 हजार टीचर्स की भर्ती

मध्यप्रदेश में होगी 20 हजार टीचर्स की भर्ती

वर्ग-3 में निकलेंगी साढ़े सात हजार भर्तियां

उज्जैन। मध्यप्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग अभी वर्ग-1, 2 और 3 में करीब 29 हजार टीचर्स की भर्ती कर रहा है। सबसे ज्यादा वर्ग-3 में 18 हजार टीचर्स की भर्ती की जा रही है। अब अगले दो साल में 20 हजार टीचर्स की और नई भर्ती की जाएगी। इनमें से 15 हजार से ज्यादा पदों के लिए वित्त विभाग से परमिशन मिली गई है। इसके लिए एग्जाम 2023 में होगा। अगले साल प्रदेश में 7 हजार से ज्यादा प्राइमरी टीचर रिटायर हो रहे हैं। इसके अलावा मिडिल और हायर में भी 800 से ज्यादा टीचर रिटायर होने के कारण ये पद खाली हो जाएंगे। स्कूल शिक्षा विभाग इन्हें भी भरने जा रहा है।

फरवरी में सभी को नियुक्ति आदेश मिल जाएंगे

प्राइमरी टीचर्स की भर्ती के लिए स्कूल शिक्षा विभाग के 7429 और जनजातीय कार्य विभाग के 11098 पदों पर संयुक्त भर्ती की जाएगी। मध्यप्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग को आदेश जारी किए हैं। फरवरी में सभी को नियुक्ति आदेश मिल जाएंगे।

निर्देश और नियम वेबसाइट पर 31 अक्टूबर 2022 को जारी कर दिए गए हैं। MPTET-2020 के योग्य कैंडिडेट्स से स्कूल शिक्षा विभाग के तहत रिक्त पदों को भरा जाना है। प्राइमरी टीचर्स की भर्ती के लिए स्कूल शिक्षा विभाग के 7,429 व जनजातीय कार्य विभाग के 11,098 पदों पर संयुक्त भर्ती की जाएगी। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा आयोजित परीक्षा के लिए करीब 8 लाख कैंडिडेट्स ने फॉर्म भरे थे। इनमें से 5,89,150 कैंडिडेट्स ने परीक्षा दी थी। रिजल्ट भी 8 अगस्त को जारी किया गया था।

सबसे ज्यादा स्पोर्ट्स टीचर्स भर्ती होंगे

स्कूल शिक्षा विभाग को खेलकूद और गायन-वादन में मिडिल और प्राइमरी पदों पर भर्ती की परमिशन मिली है। स्पोर्ट्स टीचर्स की सबसे ज्यादा भर्ती की जाना है। ये सभी पद वित्त विभाग से स्वीकृत होने के बाद प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड को भेज दिए गए हैं।

इन पर 2023 से 2025 के बीच भर्ती होगी। इसके साथ ही सहायक संचालक के 192 में से 140 पदों के लिए पब्लिक सर्विस कमिशन द्वारा विज्ञापन जारी किया जा चुका है। उच्च माध्यमिक के 2750 पदों पर विज्ञापन जारी है। मिडिल के 9498 में से 5 हजार पदों के लिए विज्ञापन जारी है।

20 हजार पदों पर होनी है भर्ती: 2018 में प्रदेश शिक्षक पात्रता वर्ग 1 और वर्ग 2 परीक्षा हुई थी। शिक्षक भर्ती के लिए अगस्त और अक्टूबर 2019 में रिजल्ट घोषित किया गया था। इसमें 40000 टीचर्स की नियुक्ति होनी थी, लेकिन 30000 पद ही स्वीकृत किए गए।

इनमें स्कूल शिक्षा विभाग ने 20500 पद ही स्वीकृत किए, जनजातीय कार्य विभाग ने करीब 9000 पदों पर भर्ती शुरू की। 4 साल बाद भी प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। अब भी शिक्षकों के करीब 20000 पदों पर भर्ती होने के बाद भी करीब 60000 पद खाली रह गए हैं।

एक साल में 15 हजार पद भरे जाएंगे: स्कूल शिक्षा विभाग अगले साल सीधी भर्ती से 15 हजार से ज्यादा पदों पर भर्ती करेगा। विभाग में 19,163 पद खाली हैं। इसके लिए वित्त विभाग से अनुमति मांगी गई है। इनमें से अभी तक 15,129 पद स्वीकृत हो चुके हैं। बाकी पदों पर परमिशन का इंतजार है।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर