Saturday, January 28, 2023
Homeउज्जैन समाचार24 बेड की ICU ही 'वेंटिलेटर' पर…

24 बेड की ICU ही ‘वेंटिलेटर’ पर…

माधव नगर अस्पताल: जिले का तीसरा बड़ा चिकित्सालय बीएएमएस के भरोसे…

24 बेड की आईसीयू ही ‘वेंटिलेटर’ पर…

उज्जैन।जिला चिकित्सालय के आईसीयू में रिनोवेशन का काम चल रहा है इस कारण यहां के गंभीर मरीजों को भी माधव नगर अस्पताल के आईसीयू में भेजा जाता है।

माधव नगर अस्पताल के आईसीयू में कुल 24 बेड हैं, लेकिन 24 घंटे एमबीबीएस डॉक्टर की मौजूदगी नहीं रहने से मरीजों की जान अधर में लटकी रहती है। यहां पदस्थ स्टाफ सुबह 9 से 9.10 बजे के बीच ड्यूटी पर पहुंचा। माधव नगर अस्पताल में बीएएमएस के करीब 15 डॉक्टर ड्यूटी कर रहे हैं। इनके अलावा 5 बांडेड डॉक्टर भी पदस्थ हैं जिनमें 3 डेंटिस्ट हैं।

खबरों से सजग हुआ स्टाफ…

सामाजिक सरोकार ध्यान में रखकर अक्षरविश्व द्वारा स्वास्थ्य व्यवस्थाों की खामियों और लापरवाही को उजागर करती खबरें लगातार प्रकाशित की जा रही है। इसका उद्देश्य आम जन की आवाज जिम्मेदारों तक पहुंचाना है। इसका असर यह है कि शनिवार सुबह 9 बजे अक्षर विश्व की टीम जब पड़ताल के लिए माधव नगर अस्पताल पहुंची तो अस्पताल का 90 प्रतिशत स्टाफ उपस्थित था। यह देख स्टाफ से पूछा ऐसा क्यों…? जवाब मिला हम भी लगातार अक्षरविश्व पढ़ रहे है।

स्टाफ का सेटअप…

माधव नगर अस्पताल की सर्वसुविधायुक्त आईसीयू में कोरोनाकाल के समय ट्रेंड चिकित्सकों ने सैकड़ों मरीजों का उपचार किया था। 30 बेड का मेडिकल वार्ड भी है। महिला चिकित्सा के लिये 3-4 माह पहले गायनिक वार्ड बनाया था। महिला चिकित्सक पदस्थ नहीं होने से यह वार्ड आज तक शुरू नहीं हो पाया है। शनिवार को आईसीयू में 15 और मेडिकल वार्ड में 17 मरीज भर्ती होकर उपचार करा रहे थे।

भेज दिया हड्डी रोग विशेषज्ञ

माधव नगर अस्पताल में हड्डी रोग, दांतों का उपचार नहीं होता है इसके बावजूद अर्थोपेडिक डॉ. देवेश पांडे, 3 दंत चिकित्सकों को भी माधव नगर अस्पताल में पदस्थ किया है, जबकि आईसीयू में अनुभवी मेडीसीन डॉक्टर की जरूरत है।

यह था माधव नगर अस्पताल के विभिन्न विभागों का नजारा

इमरजेंसी और दवा वितरण केन्द्र सुबह 9.30 तक बंद।

ओपीडी पर्ची बनाने वाला ऑपरेटर समय पर मौजूद।

ओपीडी में सुबह 9 बजे बीएएमएस के दो डॉक्टर मौजूद।

एक्सरेविभाग में रेडियोग्राफर प्रदीप जमरा 9.05 पर मौजूद।

ब्लड सेम्पल यूनिट, टीबी यूनिट में कर्मचारी मौजूद।

2 डॉक्टर ट्रेनिंग पर, दो में से एक कॉल पर उपलब्ध

माधव नगर अस्पताल में आरएमओ डॉ. विक्रम रघुवंशी 6 माह की ट्रेनिंग पर इंदौर गये हैं। डॉ. मनोज शाक्य भी ट्रेनिंग पर गये हैं। डॉ. एच.पी. सोनानिया दोपहर 1 से 2 के बीच राउण्ड पर आकर चले जाते हैं। वह कॉल पर परामर्श के लिये और इमरजेंसी की स्थिति में अस्पताल आते हैं। कुल मिलाकर अब सिर्फ एक अनुभवी डॉ. एस.एस. दबोरिया पूरे अस्पताल की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

अक्षर विश्व बनेगा आपकी आवाज

जिला चिकित्सालय, चरक भवन और माधवनगर अस्पताल की व्यवस्थाओं को लेकर कोई शिकायत है तो अक्षरविश्व पीडि़त व्यक्ति की आवाज जिम्मेदारों तक पहुंचाएगा। अपनी समस्या 91742-91743 पर व्हाट्सएप करें।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर