Monday, January 30, 2023
Homeदेशप्रधानमंत्री के इंदौर से आने के रुट पर मंथन

प्रधानमंत्री के इंदौर से आने के रुट पर मंथन

उज्जैन आगमन हेलीकॉप्टर या सड़क मार्ग से होगा, यह मौसम पर निर्भर रहेगा

उज्जैन।दो-तीन से दिन से शाम को मौसम बिगडऩे की स्थिति के कारण प्रधानमंत्री के इंदौर से उज्जैन आगमन के रुट पर मंथन हो रहा है। हालांकि प्रोटोकॉल के अनुसार सबकुछ तय है। प्रधानमंत्री का आगमन हेलीकॉप्टर या सड़क मार्ग से होगा यह मौसम पर निर्भर रहेगा। सुरक्षा एजेंसियां और जिला प्रशासन इसकी तैयारी में जुट गए हैं

उज्जैन में महाकाल लोक का शुभारंभ करने आ रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए रोड मैप तैयार हो चुका है, लेकिन 11 अक्टूबर को मौसम खराब रहने की संभावना के बीच हर स्थिति पर विचार किया गया है। प्रारंभिक तौर पर तय कार्यक्रम के अनुसार प्रधानमंत्री विमान से इंदौर आएंगे।

वायुसेना के हेलीकॉप्टर से उज्जैन आएंगे। वापसी रात को सड़क मार्ग से होगी। उज्जैन में शाम/रात के समय हेलीकॉप्टर के टेकऑफ और लैंडिग़ की सुविधा नहीं है। साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से पीएम रात के समय हेलीकॉप्टर से सफर नहीं करते हैं। इसलिए प्रधानमंत्री को रात में सड़क मार्ग से इंदौर रवाना होंगे। शनिवार को एसपीजी, इंदौर-उज्जैन जिला प्रशासन के अधिकारियों की बैठक हुई, जिसमें तैयारी पर चर्चा की गई।

रिहर्सल 10 अक्टूबर को की जाएगी। सूत्रों का कहना है कि बैठक में भी मौसम पर चर्चा हुई है। इसमें कहा गया है कि अगर मौसम ठीक नहीं रहा तो प्रधानमंत्री को इंदौर से उज्जैन सड़क मार्ग से लाया जाएगा। हालांकि, इस पर अंतिम निर्णय 11 अक्टूबर को ही लिया जाएगा। जिला प्रशासन ने इस संबंध में भी तैयारी शुरू कर दी है।

प्रधानमंत्री जा सकते है भारत माता मंदिर

पीएम के प्रारंभिग कार्यक्रम में महाकाल मंदिर पूजन,महाकाल लोक का लोकार्पण और जनसभा शामिल है। इधर सूत्रों का कहना है कि पीएम माधव सेवा न्यास परिसर स्थित भारत माता मंदिर जा कर भारत माता का पूजन भी कर सकते है। भोपाल से आए एक ग्रुप के ३० से अधिक कलाकार की महाकाल लोक में नृत्य की प्रस्तुति होगी। इसके साथ पीएम के लिए सर्किट हाऊस और माधव सेवा न्यास में ग्रीन रुम बनाया जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी की माधव सेवा न्यास में चुनिंदा व्यक्तियों से मुलाकात भी संभव है। इसके लिए नाम निर्धारित कर लिए गए हैं। पीएमओ और एसपीजी की अनुमति के बाद यह मुलाकात संभव है। हालांकि अधिकारिक तौर पर किसी ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

50 किलोमीटर मार्ग पर प्रकाश के लिए लगाए 600 इलेक्ट्रीक पोल

पीएम की यात्रा के मद्देनजर उज्जैन से इंदौर के लगभग 50 किलोमीटर मार्ग पर रोशनी की जाएगी। इसके लिए पूरे मार्ग पर बिजली लाइनों का इंतजाम किया गया है, इसके लिए इंदौर और उज्जैन जिलों में लगभग 600 पोल भी लगाए गए हैं। प्रधानमंत्री मोदी के दौरे के लिए राज्य शासन के निर्देश पर कंपनी द्वारा भी तैयारी की गई है।

इसी के तहत नगरीय सीमा में जरूरी कार्यों के अलावा उज्जैन-इंदौर मार्ग पर रोशनी के लिए बिजली का पर्याप्त इंतजाम किया गया है। इसके लिए इंदौर जिले की सीमा में लगभग 400 और उज्जैन जिले की सीमा में 200 पोल लगाए गए है। इन पोल पर लाइटें लगाई जा रही है। लाइटों की टेस्टिंग का कार्य भी प्रारंभ हो चुका है। प्रधानमंत्री के दौरे के दौरान बिजली कर्मचारियों, अधिकारियों की विशेष ड्यूटी भी मार्ग के लिए लगाई जा रही है।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर