Wednesday, February 1, 2023
HomeरिलेशनशिपFAMILY में प्यार बनाए रखने के लिए अपनाए ये टिप्स

FAMILY में प्यार बनाए रखने के लिए अपनाए ये टिप्स

परिवार के साथ रिश्ते बेहतर हो ये हम सभी चाहते हैं. हालांकि, हमारे चाहने और होने के बीच जो दूरी होती है, उसे भर पाना बेहद मुश्किल होता है. एक-दूसरे को समझ न पाने की वजह से अच्छे से अच्छा रिश्ता खराब हो सकता है. जिसकी वजह से परिवार में दरार आने लगती है.

इस दरार को भरने की चाहत कई लोगों को होती है, लेकिन इसे पूरी कर पाने में कम ही लोग सफल हो पाते हैं. परिवार में ये समय रहते कुछ कोशिशों के बाद बेहतर की जा सकती है. आज हम आपको बताते हैं कैसे आप इन समस्यायों को दूर करते हुए परिवार को एक साथ राजी-खुशी रख सकते हैं.

परिवार के साथ बातें शेयर करें –

दरार को खत्म करने का सबसे बेहतर तरीका है एक-दूसरे से अपनी बातें शेयर करें. आपका दिन कैसा रहा, दिन भर आपने क्या किया, जब आप फैमिली के साथ ये बातें शेयर करने लगेंगे, तो परिवार की आपस में बॉन्डिंग बढ़ेगी और समस्याएं खुद-ब खुद कम होने लगेंगी.

रात का खान साथ खाएं –

दिनभर के बिज़ी रूटीन के बीच अगर आप फैमिली के साथ डिनर टेबल पर साथ बैठते हैं, तो एक दूसरे से शुरू हुए मतभेद खत्म होने लगते हैं. इस रूटीन के साथ आप परिवार के डेली रूटीन को जान सकते हैं. साथ ही परिवार को समय न दे पाने का आपका मलाल भी कम होगा.

परिवार के साथ एक्टिविटी में पार्ट लें –

किसी भी फैमिली में दूरी तभी आती है, जब आप एक दूसरे को समय नहीं दे पाते हैं. ऐसे में बहुत ज़रूरी है कि फैमिली के साथ डिबेट, फन एक्टिविटी या सोसाइटी में होने वाले प्रोग्राम में पार्टिसिपेट करें. इससे आप सभी की बॉन्डिंग अच्छी रहेगी और वे आपसे अपने मन की बात बांटने से बिलकुल भी संकोच नहीं करेंगे.

हर मौके को साथ में सेलिब्रेट करें –

साथ रहने और आपसी दूरी कम करने का तरीका यही हो है कि आप हर फेस्टिवल को फैमिली के साथ सेलिब्रेट करें. इससे बच्चे भी सभी तरह के रीति-रिवाज़ को जान पाएंगे और साथ रहने की अहमियत को समझेंगे.

परिवार पर अपने फैसले न थोपें –

परिवार में सभी खुश रहे और मिल बांटकर हरे, इसके लिए जो स्टेप सबसे ज़रूरी है वो एक दूसरे के फैसले का सम्मान करना और परिवार के किसी भी सदस्य पर अपनी राय या अपने फैसले न थोपें. ऊपर बताई गई बातें अगर किसी भी परिवार में होती है, तो वहां टूट आने की आशंका बेहद कम हो जाती है.

खुद पर ना केंद्रित हो बातचीत

कई महिलाएं किसी भी विषय पर होने वाली बातचीत को खुद पर केंद्रित कर लेती हैं। कई बार महिलाएं अनजाने में यह काम करती हैं और कई बार वे खुद पर ध्यान आकर्षित कराना चाहती हैं। लेकिन यह गलती संबंधों में खटास पैदा कर सकती है। अगर आपकी ननद या देवर की शादी की चर्चा चल रही है तो आपको उसमें अपने अनुभव जोड़ने के बजाय उनकी बातों को ध्यान से सुनना जरूरी है। यह ऐसा समय है जब उनकी बातों को सुनकर उनके साथ खड़े होने का अहसास करा सकती हैं और उनकी किसी भी तरह की समस्याओं में जरूरत पड़ने पर मदद भी कर सकती हैं। इसे मैरिटल लाइफ में सुख-शांति का वास बना रहता है।

परिवार वालों की नाराजगी पर ना करें खुद का बचाव

घर-परिवार में अक्सर किसी ना किसी बात पर नाराजगी हो जाती है। अगर कभी परिवार वाले आपसे किसी बात पर नाराज हो जाएं और आपके खिलाफ बोलने लगें तो उसमें बुरा ना मानें और धैर्य से उनकी बातें सुनें। इस बात का आंकलन करें कि क्या वाकई आपसे गलती हुई है। बहुत सी महिलाएं तनाव की स्थिति में अपने घर वालों की बातों से बुरी तरह आहत हो जाती हैं और अपने बचाव में कई ऐसी बातें बोल देती हैं, जो परिवार वालों को तकलीफ देती हैं। अपने बचाव में बहुत ज्यादा बोलने से संबंधों में तनाव पैदा होता है। अगर आप अपने प्रियजनों की बातें ध्यान से सुनें और उनका नजरिया समझने की कोशिश करें, तो मुमकिन है कि समस्या का समाधान निकल आए और तनाव भी दूर हो जाए।

अच्छी नहीं है हड़बड़ी

मुमकिन है कि आप अपने जीवन में बहुत व्यस्त हों, घर परिवार से लेकर ऑफिस तक आप पर कई तरह की जिम्मेदारियां हों, लेकिन परिवार के सदस्यों से जल्दबाजी में बात करना और उन्हें अपनी बात कहने के लिए पर्याप्त समय ना देना आपके लिए अच्छा नहीं है। जब आप अपनी सास या ननद से यह कहते हैं कि वे सीधे मुद्दे की बात करें, तो यह चीज सही नहीं मानी जाती। आप भले ही उनसे सीधे-सीधे जल्दी करने को ना कहें, लेकिन जब आप बार-बार अपनी घड़ी देखती हैं, कमरे में इधर-उधर देखती हैं या उनकी बात सुनते हुए फोन देखने लगती हैं तो यह सभी चीजें दर्शाती हैं कि आप उनकी बातों में रुचि नहीं ले रहीं, जिससे वे हर्ट हो सकती हैं। वे ये भी सोच सकती हैं कि आप उनका सम्मान नहीं कर रहीं। पारिवारिक संबंधों में इस तरह का व्यवहार अच्छा नहीं माना जाता।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर