Sunday, February 5, 2023
Homeउज्जैन समाचारउज्जैन हेलीपेड पर नाइट विजन की सुविधा...PM की इंदौर वापसी हेलीकॉप्टर से...

उज्जैन हेलीपेड पर नाइट विजन की सुविधा…PM की इंदौर वापसी हेलीकॉप्टर से संभव…

100 मीटर पर पुलिस जवान, चौराहों पर टीआई के साथ फोर्स

उज्जैन।तमाम तैयारियों,व्यवस्थाओं के बीच सुरक्षा कारणों से यह साफ नहीं है कि पीएम नरेंद्र मोदी इंदौर किसी तरह जाने वाले है। पीएम उज्जैन से वापस इंदौर के लिए उड़ान भरेंगे या नहीं इस पर संशय बना हुआ है। इस बीच उज्जैन हेलीपेड पर नाइट विजन सुविधा कर दी गई है। पीए की इंदौर वापसी हेलीकॉप्टर से भी संभव है।

विशेष सुरक्षा बल (एसपीजी) के अधिकारियों ने हेलीपेड से लेकर कार्तिक मेला ग्राउंड और पीएम के प्रस्तावित सभी कार्यक्रम और भ्रमण क्षेत्र,उज्जैन-इंदौर फोरलेन का विशेष सुरक्षा बल (एसपीजी) के अधिकारियों ने कई दौर का निरीक्षण कर लिया। प्रारंभिक तौर पीएम की उज्जैन से वापसी बायरोड़ है,लेकिन अब उज्जैन हेलीपेड पर नाइट विजन सुविधा भी कर दी गई है। ऐसे में संभव है कि पीएम हेलीकॉप्टर से इंदौर जाए।

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार एसपीजी के अधिकारियों को बताया गया है कि जो निर्देश मिले थे उसके अनुसार ही यह हेलीपेड बनाया गया है। हेलीपेड के चारों और के पेड़ों की कटाई कर दी गई, पूरा इलाका साफ हो गया है। हेलीपेड के चारों और बाउंड्रीवाल पर भी लाइट लगा दी गई है।

हेलीपेड से इंदौर एसरपोर्ट की दूरी 55 किलोमीटर हैं। सड़क मार्ग से इंदौर पहुंचने में,ज्यादा से ज्यादा 50 मिनट लगेंगे। अगर नाइट पीएम के हेलीकॉप्टर को टेकऑफ अनुमति मिलती है,तो पीए हेलीकॉप्टर से इंदौर जा सकते है। वरना बायरोड जा सकते हैं।

ऊंची इमारतों पर तैनात रहेंगे जवान

पीएम के दौरे के समय क्विक रिस्पांस टीम (क्यूआरटी) के साथ ही जगह-जगह नाकेबंदी की जाएगी। हेलीपेड से लेकर महाकाल मंदिर व श्री महाकाल लोक के लोकार्पण के बाद कार्तिक मेला मैदान स्थित सभा स्थल तक की सड़क पूरी तरह सील रहेगी। सभी ऊंचे भवनों पर अत्याधुनिक हथियारों के साथ जवानों को तैनात किया जाएगा।

मार्ग में आने वाले सभी पुल, पुलिया की जांच बम निरोधक दस्ता जांच करेगा और सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे। इसके साथ ही शहर में आने वाले सभी वाहनों की तलाशी सख्ती से ली जा रही है। ऐसे क्षेत्र जो प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम स्थल से जुड़े हुए है। वहां की हर गतिविधियों पर नजर बनी हुई है। अधिकारियों के अनुसार ऐसा पीएम के वापस इंदौर पहुंचने तक रहेगा। खास बात यह है कि सुरक्षा की सारी मानिटरिंग प्रदेश के डीजीपी कर रहे हैं।

काफिले में दो डमी कार भी चलेगी साथ

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उज्जैन आगमन के दौरान 100 से ज्यादा विशेष सुरक्षा बल (एसपीजी) के जवान साथ चलेंगे। काफिले के आगे एडवांस सिक्युरिटी कार चलेगी। आसपास के 100 मीटर के क्षेत्र में सभी रिमोट कंट्रोल डिवाइस को जाम कर देगा। पीएम मोदी पांच सुरक्षा घेरे में रहेंगे। पीएम मोदी के काफिले में अत्याधुनिक गाडिय़ां होती हैं। सबसे पहले एडवांस सिक्युरिटी कार होती है।

इसके बाद एडवांस पायलट कार रहेगी। तीसरे नंबर पर पायलट कार होगी। इसके पीछे सिक्युरिटी कार रहेगी। उसके बाद काफिले में वीआइपी कार रहेगी। पीएम मोदी जिस कार में बैठेंगे, वह पूरी तरह बुलेटप्रुफ रहेगी। आखिर में एम्बुलेंस के साथ ही एक दर्जन और वाहन रहेंगे।

प्रधानमंत्री के संभावित रूट के मद्देनजर पूरे मार्ग पर 100 मीटर की दूरी पर पुलिस के 1 जवान को तैनात किया गया है साथ ही मार्ग में आने वाले प्रत्येक चौराहे पर थाना प्रभारी स्तर के अधिकारी के साथ पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। पुलिस फोर्स की ड्यूटी सुबह से लगा दी गई है। पीएम मोदी के साथ पहला घेरा एसपीजी कमांडो का रहेगा। दूसरा घेरे में पर्सनल गार्ड रहेंगे। तीसरे घेरे में एनएसजी कमांडो रहेंगे।

यह कमांडो किसी भी आपरेशन को अंजाम देने में माहिर माने जाते है। चौथा घेरा पैरामिलिट्री फोर्स के जवान रहेंगे। जिन्हें पीएम की सुरक्षा के लिए स्पेशल ट्रेनिंग दी जाती है। पांचवां घेरा स्थानीय पुलिस का होगा। पूरे कार्यक्रम स्थल के आसपास व अंदर भी सादी वर्दी में जवानों को तैनात किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा को अभेद्य बनाने के लिए दो आइजी, पांच डीआइजी, 20 एसपी, 35 एएसपी, 80 डीएसपी को तैनात किया जाएगा।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर