Monday, January 30, 2023
Homeउज्जैन समाचारहिंगोट चलाने और आतिशबाजी करने पर 8 युवकों के खिलाफ केस दर्ज

हिंगोट चलाने और आतिशबाजी करने पर 8 युवकों के खिलाफ केस दर्ज

उज्जैन : हरिहर मिलन की सवारी में प्रशासन के आदेश का खुलेआम उल्लंघन, जमकर चले हिंगोट और फटाके…

हिंगोट चलाने और आतिशबाजी करने पर 8 युवकों के खिलाफ केस दर्ज

उज्जैन। वैकुंठ चतुर्दशी पर रात्रि में हरिहर मिलन के लिये निकली भगवान महाकालेश्वर की सवारी के दौरान होने वाली आतिशबाजी और हिंगोट चलाने पर कलेक्टर द्वारा धारा 188 के तहत प्रतिबंध लगाया गया था। बावजूद इसके बीती रात महाकाल मंदिर से लेकर पूरे सवारी मार्ग होते हुए गोपाल मंदिर तक जमकर आतिशबाजी और हिंगोट चलाकर लोगों ने कलेक्टर के आदेश का खुलेआम उल्लंघन किया।

इस बीच एक युवक को पीटकर बदमाशों ने उसका मोबाइल, पर्स भी छीना और आतिशबाजी से एक बर्तन दुकान में आग भी लग गई।हरिहर मिलन के दौरान पूर्व में गोपाल मंदिर पर आतिशबाजी और हिंगोट चलाये जाते थे जिस कारण भगदड़ की स्थिति बनने के साथ ही लोग घायल भी होते थे। संभावित दुर्घटना के मद्देनजर कलेक्टर आशीष सिंह ने आतिशबाजी व हिंगोट चलाने पर धारा 188 के तहत प्रतिबंध लगाया था।

धारा 188 के तहत प्रकरण बनाया

महाकाल पुलिस ने बताया कि सवारी के दौरान प्रतिबंध के बावजूद युवकों ने आतिशबाजी कर हिंगोट चलाये जिस पर सचिन, तुषा कसेरा, मयंक भोंसले सभी निवासी पटनी बाजार, पलकेश पिता अभिमन्यु निवासी दौलतगंज इंदौर, रिषभ राठौर पिता संजय निवासी मोती तबेला इंदौर, निशांत मरमट पिता राजकुमार मरमट निवासी प्रकाश नगर तीन बत्ती चौराहा, वीरेन्द्र पिता जगन्नाथ निवासी मुल्लापुरा के खिलाफ धारा 188 के तहत केस दर्ज किया गया है।

छत्तीसगढ़ के युवक ने रोका तो पीटकर मोबाइल छीन लिया, दुकान में आग लगी

उज्जैन। सवारी में शामिल युवकों ने बीती रात कलेक्टर के आदेश का खुलेआम उल्लंघन करते हुए जमकर हिंगोट चलाये। महाकाल मंदिर से शुरू हुआ आतिशबाजी का क्रम कोट मोहल्ला चौराहा, गुदरी चौराहा, बर्तन बाजार, पटनी बाजार से गोपाल मंदिर तक चलता रहा।

इस दौरान हिंगोट चलाने पर महिलाओं, बच्चों व बुजुर्गों ने यहां-वहां भागकर स्वयं को बचाया। ऐसा नहीं कि सवारी मार्ग में पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौजूद नहीं थे। एएसपी और सीएसपी व थाना प्रभारी स्तर के अफसर सवारी में शामिल होने के साथ भारी पुलिस फोर्स भी मौजूद था लेकिन पुलिसकर्मी किसी भी हिंगोट चलाने वाले या आतिशबाजी करने वाले को पकडऩा तो दूर रोक भी नहीं पाये।

बच्चे पर पटाखा आया, रोका तो पीटा: योगेश कुमार पिता रामरत्ती निवासी बालोद छत्तीसगढ़ ने बताया कि परिवार के साथ उज्जैन दर्शन करने आया था। देर रात पत्नी बरखा, व दो बच्चे पीयूष व सृष्टि के साथ सवारी देख रहा था तभी आतिशबाजी कर रहे लोगों का पटाखा बेटे की तरफ आया।

उन्हें रोका तो 6 लड़कों ने घेरकर पिटना शुरू कर दिया और मोबाइल व पर्स भी छीन लिये जिसमें 5 हजार रुपये रखे थे। मारपीट के दौरान बदमाश निक्कू का नाम पुकार रहे थे। महाकाल थाने में शिकायत की तो पुलिस ने आवेदन लिया है। इसी तरह आतिशबाजी और हिंगोट चलाने के दौरान बर्तन बाजार की एक दुकान में आग भी लगी जिसे तत्काल बुझा दिया गया।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर