Tuesday, May 17, 2022
Homeपेरेन्टिंग एंड चाइल्डParenting tips: सर्दियों में बच्चों को फिट और एक्टिव रखने के लिए...

Parenting tips: सर्दियों में बच्चों को फिट और एक्टिव रखने के लिए कराएं ये 5 एक्टिविटीज

बच्चों को दिनभर फिट रखने या एक्टिव बनाए रखने के लिए कुछ व्यायाम माता-पिता के बेहद काम आ सकते हैं… जानते हैं कौन से हैं ये

व्यायाम…
अगर आप घर पर रहकर बच्चों से व्यायाम करवा रही हैं या उनसे किसी नए व्यायाम को करने के लिए कह रहे हैं तो ऐसे में माता-पिता की जिम्मेदारी है कि वह उनके पोश्चर का ध्यान रखें। इससे अलग माता-पिता उनके वर्कआउट के दौरान साथ रहें। माता-पिता चाहे तो बच्चों के साथ मिलकर भी वर्कआउट कर सकते हैं। ऐसा करने से ना केवल बचा वर्कआउट करने के लिए प्रेरित होगा बल्कि वह खुद भी एक्टिव और फिट महसूस करेगा।
कुछ व्यायाम बच्चों को ना केवल एक्टिव रख सकते हैं। बल्कि उन्हें फिट भी बनाए रख सकते हैं। ऐसे में यदि बच्चे सर्दियों में आलस महसूस करते हैं या सर्दियों में उनके दिनचर्या से शारीरिक गतिविधियों की कमी हो रही है तो माता-पिता इन आसान तरीकों को बच्चों से करवा सकते हैं। लेकिन यदि आपके बच्चे को कोई शारीरिक समस्याएं हैं या इन व्यायामों को करते वक्त बच्चे को किसी भी प्रकार की दिक्कत महसूस हो रही है तो उसे जबरदस्ती इन व्यायामों को करवाने से नकारात्मक प्रभाव भी उसकी दिनचर्या पर पड़ सकता है।

बच्चों को व्यायाम करने के फायदे
सामाजिक कौशल आपके बच्चे के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यदि आपका बच्चा खेलों में भाग लेता है तो उनमें सामाजिक कौशल का बहुत अच्छा विकास होता है। खेलों के दौरान आपका बच्चा अन्य बच्चों से मिलता है और उनसे बातचीत करता है। यह उसके समाजिक कौशल के विकास में सहायक होता है। खेलों से आपका बच्चा टीम वर्क का कौशल सीखता है। आपका बच्चा सीखता है कि किस प्रकार टीम की विजय में योगदान दिया जा सकता है। यह एक महत्वपूर्ण गुण है। यह उन्हें तब सहयता देता है जब वे बोर हो जाते हैं और नौकरी करते हैं। जब आपका बच्चा कोई शारीरिक गतिविधि करता है तो उसके मस्तिष्क या उसके सिर के अंदर जो अंग है उसका विकास होता है। एक सक्रिय और पूर्ण रूप से विकसित मस्तिष्क आपके बच्चे को जल्दी सीखने और बनने में सहायक होता है। स्वस्थ मस्तिस्क कुशल तरीके से जानकारी संग्रहित और पुन:प्राप्त कर सकता है।

1 – अगर नियमित रूप से व्यायाम करते हैं तो ऐसा करने से ओबेसिटी से बचा जा सकता है।

2 – नियमित रूप से व्यायाम करने वाले बच्चे फिट और एक्टिव रहते हैं।

3 – जो बच्चे नियमित रूप से व्यायाम करते हैं उनकी मांसपेशियां और हड्डियां मजबूत होती हैं।

4 – नियमित रूप से व्यायाम करने वाली बच्चों का बीपी और कोलेस्ट्रोल दोनों ही नियंत्रित रहता है।

5 – माइंड को तेज करने में नियमित रूप से व्यायाम एक बेहतर विकल्प है।

6 – यदि बच्चों की स्मरण शक्ति कमजोर है तो माता-पिता ऊपर बताए गए व्यायामों को बच्चों की दिनचर्या में जोड़ सकते हैं।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर