Monday, January 30, 2023
Homeउज्जैन समाचारपुलिस ने दी एक मकान पर दबिश, अधिकारी बोले- हो सकता है...

पुलिस ने दी एक मकान पर दबिश, अधिकारी बोले- हो सकता है ट्रेनिंग सेंटर

उज्जैन। पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के खिलाफ जिला प्रशासन और पुलिस के अभियान में कई चौंकाने वाली जानकारी सामने आ रही है।

इस दौरान एक ऐसे स्थान का भी पता चला है,जिसमें शिक्षण-प्रशिक्षण केंद्र की तरह सुविधा उपलब्ध थी। पुलिस का मानना है कि यह पीएफआई के ट्रैनिंग सेंटर हैं।

प्रतिबंधित संगठन पीएफआई के खिलाफ बुधवार को जिला प्रशासन-पुलिस की टीम ने देर रात तक कार्रवाई जारी रखी। मंगलवार को शफी सेठ की मल्टी में पीएफआई का ऑफिस चलाने वाले डॉ. वसीम पिता रहीम निवासी आर्य समाज मार्ग की तलाश में दबिश दी गई।

मल्टी का यह फलैट तस्लीमा बानो पति मो. जाकीर निवासी लोहे का पुल के नाम है। इस कार्रवाई करने के बाद पुलिस की टीम इसी गली में आगे की ओर रहने वाले हाफिज शोएब शाह के घर पहुंची। उसके यहां शकील टेंट वाले ने तीन कमरे और एक हॉल किराये पर लिया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि पीएफआई द्वारा यहीं पर स्कूल की तर्ज पर ट्रैनिंग सेंटर संचालित किया जा रहा था।

अब इन लोगों की पुलिस को तलाश

डॉ. वसीम पिता रहीम निवासी आर्य समाज मार्ग, इरशाद निवासी पीलू की मस्जिद के पीछे जिसके घर से पीएफआई के कार्ड व प्रचार सामग्री मिली थी, शकील टेंट वाला जिसने हाफिज शोएब शाह का मकान किराये पर लिया और शोएब जो अभी जमात में गया है। पुलिस अफसरों का कहना है कि इन लोगों को एनआईए और एटीएस की टीम द्वारा पकडने की जानकारी नहीं है। पुलिस द्वारा सभी की तलाश की जा रही है।

ब्लैक बोर्ड, टेबल कुर्सी रखे थे हॉल व कमरों में….हाफिज शोएब का जो मकान शकील टेंट वाले ने किराये पर लिया जिसकी सर्चिंग पुलिस व प्रशासन की टीम ने की। यहां पर टेबल, कुर्सी के अलावा ब्लैक बोर्ड भी लगा मिला। पुलिस को शंका है कि यहां पीएफआई सदस्यों को ट्रेनिंग दी जाती होगी।

हालांकि पुलिस को हाफिज शोएब घर पर नहीं मिला। दबिश बेटियों ने पुलिस को बताया कि पिता तीन दिन की जमात पर गये हैं, कहां गये यह किसी को नहीं पता। पुलिस को अब तक शकील टेंट वाला भी नहीं मिला है।

पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने यहां तीन कमरे और एक हॉल सील कर नोटिस चस्पा कर दिया है। इसी प्रकार प्रशासन और पुलिस ने रात को भागसीपुरा स्थित पूर्व पार्षद स्व.लाला त्रिपाठी की मल्टी पर दबिश दी। यहां पर एक दूकान में डॉ. वसीम द्वारा क्लिनिक संचालित किया जाता था। क्लिनिक को सील कर दिया गया है।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर