Wednesday, February 1, 2023
Homeउज्जैन समाचारसवालों में पुलिस की कार्यप्रणाली : जुएं में पकड़ा तो तीन माह...

सवालों में पुलिस की कार्यप्रणाली : जुएं में पकड़ा तो तीन माह पुराने प्रकरण में गिरफ्तारी ली और जमानत भी हो गई

उज्जैन। तीन माह से फरार आरोपी को पुलिस खोज नहीं पाई। जुआंघर चलाते हुए पकड़ा, तो पुराने एक मामले में भी गिरफ्तारी ले ली। हद तो यह कि आरोपी की जमानत भी हो गई। इस पूरी कार्रवाई में पुलिस की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में आ गई हैं। मामला घर में जुआंघर चलाने वाले नगर निगम के कर्मचारी मुकेश सारवान का है।

भेरूगढ़ थाने में निगम कर्मचारी के खिलाफ हफ्तावसूली का केस 3 माह पहले दर्ज हुआ। खास बात यह कि कर्मचारी अपने ऑफिस में प्रतिदिन पहुंचकर अटेंडेंस लगा रहा था और पुलिस उसे फरार बताती रही। दो दिन पहले क्राइम स्क्वाड ने उसे घर में 6 लोगों के साथ जुआं खेलते पकड़ा और जीवाजीगंज पुलिस के सुपुर्द किया तब जाकर भेरूगढ़ पुलिस ने उसकी पुराने मामले में गिरफ्तारी लेकर कोर्ट में पेश किया जहां से उसकी कुछ ही घंटों में जमानत भी हो गई।

जीवाजीगंज थाना प्रभारी गगन बादल ने बताया कि बिलोटीपुरा में रहने वाले निगमकर्मी मुकेश सारवान द्वारा जुआं घर संचालित करने की सूचना क्राइम स्क्वाड को मिली। दो दिन पहले टीम ने उसके घर दबिश देकर मुकेश सारवान सहित 5 लोगों व एक नाबालिग को गिरफ्तार कर रुपये व उपकरण जब्त किया और जीवाजीगंज पुलिस के सुपुर्द किया। मामले में 5 जुआरियों के खिलाफ धारा 151 में केस दर्ज कर उन्हें जेल भेजा गया। मुकेश सारवान की भेरूगढ़ पुलिस को तलाश थी। उसकी गिरफ्तारी भेरूगढ़ पुलिस ने ली।

पुलिस ने लिखा था नगर निगम को पत्र

घनश्याम निवासी इलियासखेडी ने मुकेश सारवान के खिलाफ भेरूगढ़ थाने में धारा 327 हफ्तावसूली का केस दर्ज कराया। तीन माह में पुलिस उसे गिरफतार नहीं कर पाई। जांच अधिकारी हरीश चौहान ने बताया कि मुकेश की तलाश में नगर निगम स्थित उसके ऑफिस में दबिश दी लेकिन वह नहीं मिल रहा था। इस पर नगर निगम आयुक्त को पत्र भी लिखा था।

अटेंडेंस लग रही फिर फरार कैसे

जांच अधिकारी हरीश चौहान ने बताया कि मुकेश सारवान ऑफिस लगातार जा रहा था। उसकी अटेंडेंस भी लग रही थी लेकिन वह पुलिस को देखकर छुप जाता था। इधर निगम सूत्रों के अनुसार मुकेश सारवान को अब नोटिस जारी किया जा रहा है निगम में इसकी तैयारी हो गई है।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर