Monday, January 30, 2023
Homeउज्जैन समाचारऐसा है उज्जैन पुलिस का काम करने का तरीका

ऐसा है उज्जैन पुलिस का काम करने का तरीका

गैंग पकड़ाई तो थाने गये, तब लिखी रिपोर्ट

जांच करने वाले अधिकारी का ट्रांसफर हो गया और 21 दिन बाद पुलिस ने दर्ज किया केस

उज्जैन।शहर में पुलिसिंग का स्तर क्या है इसका उदाहरण चोरी की वारदात के 21 दिन बाद एफआईआर दर्ज होने से सामने आता है।

इसमें भी खास बात यह कि जो अधिकारी घटना स्थल पर जांच करने गये थे उनका भी ट्रांसफर हो गया और चोर गैंग पकड़ाने की खबर मिलने के बाद फरियादी दुबारा थाने पहुंचा और पुलिस को याद दिलाया कि मेरे घर हुई चोरी में आज तक एफआईआर नहीं हुई है तब जाकर पुलिस ने मामले में केस दर्ज किया।

फोन नहीं लगा तो स्वयं पुलिस को बुलाकर लाया….कौशल रमानी ने बताया कि 30 जुलाई की सुबह डायल 100 पर कॉल किया। फोन रिसीव नहीं हुआ तो स्वयं थाने गया। 3-4 पुलिसकर्मियों को साथ लेकर घर में जांच करवाई। पुलिस ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया और लौट गई।

6 अगस्त को चाचा रामचंद्र रमानी तीर्थ यात्रा से लौटे। पुलिस से संपर्क किया तो जवाब मिला अभी जुलूस, पर्व ड्यूटी आदि में व्यस्त हैं, रिपोर्ट लिख लेंगे लेकिन पुलिस ने मामले में 20 दिनों तक रिपोर्ट दर्ज नहीं की। जब चोर गैंग पकड़ाई तब फरियादी पुन: थाने गया तो पुलिस ने केस दर्ज किया।

यह था मामला

फारेस्ट ऑफिसर रामचंद्र रमानी निवासी मंगल रेसीडेंसी ने कॉलोनी में नया घर बनवाया और पूजन पाठ के बाद जुलाई माह में गृह प्रवेश किया। इसके बाद वह परिवार के साथ तीर्थ यात्रा पर चले गये।

घर की देखरेख रिश्तेदार कर रहे थे। उनके भतीजे कौशल रमानी पिता दिलीप रमानी निवासी शुभलाभ एवेन्यू लालपुर ने बताया कि 29 जुलाई को पिता तबियत बिगडऩे पर चाचा के मकान पर ताला लगाकर घर आ गये थे।

उसी रात अज्ञात बदमाशों ने घर के ताले तोड़कर दो जोड़ सोने के कान के टाप्स, सोने की अंगूठी, सोने की चैन, चांदी की पायल, कंगन, चैन, 8 घडिय़ां, 1 लाख 10 हजार रुपये नगद और मकान उद्घाटन के कार्यक्रम में आये रुपयों से भरे 20 लिफाफे चोरी कर लिये।

अब नए सिरे से की जाएगी चोरी के मामले की जांच…

पुलिस ने पिछले दिनों शहर में चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाली चड्डी बनियान गैंग को पकड़ा। मीडिया के माध्यम से इसकी जानकारी कौशल रमानी व परिवारजनों को मिली।

वह नागझिरी थाने गये और पुलिस को उनके घर हुई चोरी में एफआईआर दर्ज करने की बात कही, पुलिस का जवाब था उस समय जो पुलिसकर्मी जांच करने गये थे उनका ट्रांसफर हो गया है। अब नये सिरे से जांच और एफआईआर दर्ज होगी। कल नागझिरी पुलिस ने मामले में चोरी का केस दर्ज किया।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर