Monday, January 30, 2023
Homeउज्जैन समाचारपेपरलेस बिजली बिल व्यवस्था से कंपनी को फायदा, उपभोक्ता परेशान

पेपरलेस बिजली बिल व्यवस्था से कंपनी को फायदा, उपभोक्ता परेशान

बिजली बिल के लिए स्मार्ट फोन खरीदों या जोन कार्यालय के लगाओं चक्कर

उज्जैन।विद्युत कंपनी ने 15 दिन पहले शहर में पेपरलेस बिजली बिल की व्यवस्था लागू की है। अब कंपनी उपभोक्ताओं के मोबाइल पर बिल भेज रही है। लेकिन समय पर ऑनलाइन बिल मिलना तो दूर कई उपभोक्ताओं को तो मैसेज ही नहीं आ रहे हैं। इससे उपभोक्ता परेशान हो रहे हैं और समय पर बिल नहीं चुकाने पर पैनाल्टी चुकाना पड़ रही है। बावजूद कंपनी इस पेपरलेस बिलिंग व्यवस्था में सुधार की ओर ध्यान नहीं दे रही हैं।

बता दें कि विद्युत कंपनी ने शहर के 1:30 लाख बिजली उपभोक्ताओं के पेपर बिल बंद कर उनके मोबाइल पर बिल भेजना शुरू कर दिए है। मैसेज मिलने के बाद उपभोक्ताओं को या तो ऑनलाइन या फिर बिजली कंपनी के काउंटर में जाकर बिल जमा कराना है।

लेकिन कई उपभोक्ताओं के मोबाइल पर बिल के मैसेज ही नहीं आ रहे हैं। इससे उपभोक्ताओं को जानकारी नहीं मिल पा रही है कि उनका महीने का कितना बिजली बिल हुआ है। वहीं जिन उपभोक्ताओं के पास स्मार्ट फोन नहीं है। वे कंपनी कार्यालय पहुंच रहे हैं। रोजाना कई उपभोक्ता मोबाइल पर बिल नहीं मिलने की शिकायत लेकर आ रहे हैं।

यह है उपभोक्ताओं का कहना-

उपभोक्ता गोपाल परिहार ने बताया कि ऑनलाइन बिलिंग व्यवस्था में समय पर बिल जारी नहीं किए जा रहे हैं। वहीं उपभोक्ताओं को यह भी पता नहीं चल पा रहा कि कितनी खपत हुई। यह सुविधा केवल कंपनी के फायदे के लिए है। इससे उपभोक्ताओं की सिर्फ परेशानी बढ़ी।

उपभोक्ता सुनील परमार ने बताया कि एंड्राइड मोबाइल फोन वाले उपभोक्ताओं को तो मैसेज के जरिए फिर भी बिल की डिटेल मिल रही है। लेकिन ऐसे उपभोक्ता जिनके पास साधारण मोबाइल है उन्हें तो यह भी पता नहीं चल पा रहा है कि कितनी खपत हुई और किस दर से बिल वसूली की गई है।

इनका कहना है:यह व्यवस्था पूरे शहर में लागू की गई है। जिन उपभोक्तओं के ऑनलाइन मैजेस नहीं मिल रहे है, वे अपने मोबाइल नंबर जोन कार्यालया आकर दर्ज करवाए।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर