Monday, January 30, 2023
Homeधर्मं/ज्योतिषचाहते है कि घर में सभी का स्वास्थ्य उत्तम रहे तो अपनायें...

चाहते है कि घर में सभी का स्वास्थ्य उत्तम रहे तो अपनायें वास्‍तु के आसान उपाय…

आप‍को यह बात तो अच्‍छे से पता होगी कि स्‍वस्‍थ शरीर में ही स्‍वस्‍थ दिमाग का वास होता है। स्‍वस्‍थ शरीर के लिए आप क्‍या करते हैं? शायद कुछ लोग इस बात का जवाब न दे पाएं।

अगर आप स्‍वस्‍थ दिनचर्या के साथ-साथ वास्‍तु के कुछ उपायों को अपनाएं तो आपको अच्‍छी सेहत प्राप्‍त होगी और आप छोटी-मोटी बीमारियों को दूर करेंगे। आइए आपको बताते हैं वास्‍तु के ये आसान से उपाय…

1.वास्तु उपाय के अनुसार कहा जाता है कि, घर में यदि दोनों तरफ खिड़की हो तो इसे बेहद ही अच्छा माना जाता है। इसके अलावा आप चाहें तो इन दोनों ही खिड़कियों पर गोल पत्ते वाले पौधे लगा सकते हैं। ऐसा करना स्वास्थ्य के लिहाज से काफी शुभ होता है। हालांकि यहां विशेष ध्यान रखें कि कभी भी घर में कांटेदार पौधे न लगाएं।

2.वास्तु शास्त्र कहता है कि, इस बात का भी विशेष ध्यान होना चाहिए कि कभी भी हमारे घर का मुख्य द्वार टूटा फूटा या दरार वाला नहीं होना चाहिए। यदि ऐसा होता है तो इस स्थिति में घर के मुखिया का स्वास्थ्य काफी प्रभावित हो सकता है। ऐसे में घर के मुख्य द्वार को हमेशा साफ-सुथरा और अच्छी हालत में होना बेहद आवश्यक होता है।

3.यदि आपके घर में लोग लगातार या बार बार बीमार पड़ते हैं तो ऐसे में हर रोज अगरबत्ती जला कर घर के हर एक कोने में रख दें। ऐसा करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा तो आती ही है साथ ही स्वास्थ्य में भी इसका सकारात्मक असर देखने को मिलता है।

4.घर में जाले ना लगने दें। वास्तु के अनुसार कहा जाता है कि घर को हमेशा साफ सुथरा रखना चाहिए। घर अगर गंदा हो तो इसका नकारात्मक प्रभाव घर में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने लगता है। ऐसे में अपने घर में कभी भी जाले ना लगने दें और घर के दीवारों और कोनों की विशेष तौर पर सफाई का ध्यान रखें।

5.वास्तु विज्ञान के अनुसार आपका रसोईघर आग्नेय कोण में होना चाहिए। इससे बीमारियां दूर रहती हैं। इसलिए हमेशा इस बात का भी पूरा ध्यान रखें। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की रसोई के लिए यह दिशा सबसे उपयुक्त मानी जाती है।

6.घर में सभी का स्वास्थ्य हमेशा उत्तम बना रहे इसके लिए इस बात को सुनिश्चित करें कि घर में जितने भी भगवानों की तस्वीर या प्रतिमा हो उन सब का मुख दक्षिण दिशा में रहे। ऐसा करने से घर में सभी का स्वास्थ्य उत्तम बना रहता है। इसके अलावा वास्तु शास्त्र कहता है कि घर का पूजा स्थल मुख्य द्वार के ठीक सामने नहीं होना चाहिए।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर