Monday, November 28, 2022
HomeकरियरINFORMATION TECHNOLOGY में बना सकते है अपना CAREER

INFORMATION TECHNOLOGY में बना सकते है अपना CAREER

वर्तमान समय में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) ने दुनिया में बहुत सी चीजों को बदला है। जिसमे कई आविष्कार भी शामिल है , जिसमे Computer भी एक Information Technology का ही एक हिस्सा है। इसके अलावा भी यह आज के युग में बहुत उपयोगी हो चुकी है, सभी चीजे आटोमेटिक है, जिन्हे Control करने के लिए हमें इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) का सहारा लेना पड़ता है।

अगर हम आईटी के क्षेत्रो की बात करें, तो इसके अंतर्गत Internet, Software Design Houses, Software Publishers and Facilities Management Companies आदि आईटी Sector के अंतर्गत आते है

IT (Information Technology) एक तकनिकी क्षेत्र है, जिसके अंतर्गत कंप्यूटर Hardware, Software, E-Commerce, Electronic Data आदि का अध्ययन किया जाता है। साथ ही Electronic Data को संग्रहीत करने से लेकर इन्हे फिर से प्राप्त करना, इनमे परिवर्तन करना आदि कार्य को कंप्यूटर आधारित सिस्टम की मदद से किया जाता है, जो की इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

साथ ही IT Sector के अंतर्गत Data को Management करना, Internet से सम्बंधित कार्य करना आदि भी इसी के अंतर्गत आते है। अगर हम एक लाइन में आती की परिभाषा को समझे तो इसका मतलब होता है, ऐसे सभी कार्य जिनमे कंप्यूटर टेक्नोलॉजी का उपयोग करके Data का आदान प्रदान किया जाता है, आईटी कहलाता है।

IT Course क्या है 

IT (Information Technology) के अंतर्गत ऐसे सभी Course आते है, जो Computer और Technology से जुड़े होते है। जिसमे कंप्यूटर हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर भाषाएँ, और टेलीकम्युनिकेशन आदि आते है, Digital Marketing Course भी IT Sector के अंतर्गत ही आता है।

आईटी कोर्स कितने प्रकार के होते है?

कुछ लोगो का सवाल होता है, की आईटी कोर्स किंतने साल का होता है। आपको बता दें, की आईटी कोर्स तीन प्रकार के होते है, जिनकी समय अवधि अलग अलग होती है, आइये जानते है, IT Course के तीन प्रकार कौन कौन से होते है

  • Diploma Course
  • Certification Course
  • Degree Course

किनको यह कोर्स करनी चाहिए?

जिन छात्रों का इंटरेस्ट कंप्यूटर क्षेत्र में है और खासकर जिन्हे टेक्नॉलॉजी से जुड़े प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने में मजा आता है, जिनको टेक्निकल क्वेश्चन रोमांचित करता है उन छात्रों को यह कोर्स करनी चाहिए साथ ही जो छात्र सबसे तेजी से आगे बढ़ रहे आईटी सेक्टर में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं, वह भी कम खर्च में इस डिप्लोमा कोर्स को ज्वाइन कर सकते हैं और सुनहरे भविष्य की कल्पना कर सकते हैं

छात्र इस कोर्स के दौरान क्या सीखते हैं?

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के दौरान छात्रों को कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर पार्ट के बारे में ज्यादा जानकारी दी जाती है, साथ में बेसिक हार्डवेयर की भी जानकारी दी जाती है चुकी यह कोर्स इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी यानी डाटा से रिलेटेड है लेकिन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी के लिए कंप्यूटर जरूरी है इसीलिए छात्रों को इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी के सब्जेक्ट्स के साथ-साथ कंप्यूटर की भी पढ़ाई कराई जाती है

कुछ महत्वपूर्ण आईटी सब्जेक्ट्स की बात करें तो सी, सी प्लस प्लस, जावा, प्रिंसिपल्स ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, वेब टेक्नोलॉजी, डाटा स्ट्रक्चर, आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर, ऑपरेटिंग सिस्टम, इनफॉरमेशन सिक्योरिटी आदि के बारे में पढ़ाया जाता हैसाथ में छात्रों को इस बारे में जागरूक बनाया जाता है कि लाइफ के अलग-अलग महत्वपूर्ण क्षेत्र जैसे कि शिक्षा,स्वास्थ्य, ट्रांसपोर्ट आदि में आईटी का प्रयोग कैसे किया जा सकता है

आईटी कोर्स के फायदे 

IT Courses उन लोगो के लिए एक बैहतर विकल्प माना जाता है, जिन्हे कंप्यूटर में रूचि होती है। लेकिन जैसे जैसे इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ने विकास किया है, यह पूर्ण रूप से व्यावसायिक हो चुकी, ऐसे में इस आईटी सेक्टर के बारे में सिर्फ उन लोगो को ही जाना जरुरी नहीं है, जो इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है। बल्कि सभी लोगो के इसके बारे में जाना चाहिए। तो आइये जानते है It Course के Benefits क्या है –

1. अपने अनुभव को बेहतर करें

अगर आप अपने करियर को आईटी क्षेत्र में आगे बढ़ाना चाहते है, तो आपको अत्यधिक रचनात्मक होने की जरुरत है। आईटी का एक डिप्लोमा या सर्टिफिकेट भी बहुत मूलयवान है। जो लोग Computer Science या इस तरह के क्षेत्र में कार्य करते है, उनके लिए आईटी सेक्टर एक बेहतर विकल्प है, वह अपने काम में खुद को आगे बढ़ा सकते है।

2. ज्यादा पैसे कमाए

अगर आपके पास पहले से आईटी क्षेत्र की जानकारी है, तो आप अपने लिए Earning का एक बेहतर सोर्स खोज सकते है। क्योकिं Modern Business में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी कोर्स की बहुत अधिक मांग है। अगर आप अपने करियर को एक बेहतर क्षेत्र में ले जाना चाहते है, तो IT Sector आपके लिए अच्छा विकल्प है।

3. अपनी नॉलेज को बढ़ाये

IT Course के दौरान आपको कई ऐसी चीजे सिखने को मिलेगी जो आपने शायद पहले कभी नहीं सीखी होगी। और कई ऐसी परिस्तिथि आपके सामने आएंगे जिनको आप अपनी चुनोतियों की तरह स्वीकार करेंगे। इस सेक्टर में आपको एक नया उत्साह मिलता है, और आपके सोचने की क्षमता भी बढ़ जाती है।

4. अपनी Skills से पैसे कमाए

आईटी कोर्स करने के बाद आपने जो भी चीजे सीखी है, इस आप घर बैठे भी पैसे कमा सकते है। अगर मान लीजिये आपने वेब डेवलेपमेंट का कोर्स किया तो आप किसी भी क्लाइंट के लिए एक वेबसाइट घर बैठे बना सकते है, और उससे पैसे ले सकते है। यहाँ पर आपके लिए कई बेहतर विकल्प है। आपको एक बार आईटी सेक्टर के बारे जरूर सोचना चाहिए।

एडमिशन प्रोसीजर

  • डायरेक्ट एडमिशन
  • एंट्रेंस एग्जाम के थ्रू एडमिशन

भारत में कई ऐसे अच्छे सरकारी और प्राइवेट डिप्लोमा कॉलेज हैं जहां आपको आपके 10th मार्क्स बेसिस पर डायरेक्ट एडमिशन मिल सकता है, पॉलिटेक्निक आईटी कोर्स के लिए वही बहुत सारे अच्छे सरकारी और प्राइवेट डिप्लोमा कॉलेज हैं जिनमें आपको एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करना जरूरी होता है

आईटी सेक्टर पूरी दुनिया में सबसे तेजी से ग्रो कर रहे सेक्टर में से एक है, इसलिए बहुत सारे छात्र आज डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स करना चाहते हैं, लेकिन इस कोर्स के लिए सीट दूसरे डिप्लोमा के ब्रांच से कम है, तो जो छात्र एंट्रेंस एग्जाम में अच्छा स्कोर कर पाते हैं उन्हें ही किसी अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिल पाता है इसलिए छात्रों को अगर डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स करनी है तो दसवीं में भी अच्छा स्कोर करना चाहिए, साथ में अगर वह एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम देने जा रहे हैं, तो वहां भी उन्हें अच्छा स्कोर करने की कोशिश करनी चाहिए

ट्यूशन फीस

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के लिए ट्यूशन फीस सरकारी कॉलेज में कम होता है वहीं प्राइवेट कॉलेज में आपको ज्यादा फीस पे करना होता है जहां सरकारी कॉलेज में छात्रों को 10000 से ₹20000 सालाना तक ट्यूशन फी पे करना पड़ सकता है वहीं प्राइवेट कॉलेज में छात्रों को 30 से ₹40000 सालाना तक भी ट्यूशन फीस पे करना पड़ सकता है इस कोर्स के लिए बहुत सारे पॉलिटेक्निक कॉलेज मेट्रो शहर में हैं जहां ट्यूशन फीस ज्यादा होता है और सालाना ₹50000 या उससे ऊपर भी छात्रों को पे करना पड़ता है

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के लिए कुछ टॉप कॉलेज निम्न है-

गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, नासिक
एसआरएम पॉलिटेक्निक, चेन्नई
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़
गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, पुणे
एलजे पॉलिटेक्निक, अहमदाबाद
पीएसजी पॉलिटेक्निक कॉलेज, कोयंबटूर
गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, मुंबई
हिंदुस्तान पॉलिटेक्निक, चेन्नई
थापर पॉलिटेक्निक कॉलेज, पटियाला
गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, पटना
सरदार वल्लभभाई पॉलिटेक्निक कॉलेज, भोपाल
एमएस रमैया पॉलिटेक्निक, बेंगलुरु
कलिंगा पॉलिटेक्निक, भुवनेश्वर
भगवान महावीर पॉलिटेक्निक, सूरत
पारूल यूनिवर्सिटी, वडोदरा
ठाकुर पॉलिटेक्निक, मुंबई
शिलांग पॉलिटेक्निक, शिलांग
गवर्नमेंट गर्ल्स पॉलिटेक्निक, लखनऊ
एंबीशन इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी, वाराणसी
भुजबल नॉलेज सिटी, नासिक
कलानिकेतन पॉलिटेक्निक कॉलेज, जबलपुर

करियर ऑप्शंस

डिप्लोमा इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद करियर ऑप्शंस की बात करें तो छात्रों के पास नौकरी के कई मौके होते हैं, साथ में छात्र हायर एजुकेशन के लिए भी जाना चाहे, तो उसके लिए भी एडमिशन की प्रक्रिया बहुत ही आसान होती है यह कोर्स करने के बाद छात्रों को कंप्यूटर और आईटी सेक्टर की छोटी और बड़ी कंपनियों में अलग-अलग प्रोफाइल में नौकरी मिल सकता है साथ में कुछ सरकारी नौकरी के भी मौके होते हैं

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद जॉब प्रोफाइल की बात करें तो छात्रों को प्रोग्रामर, वेब डेवलपर, जूनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर, ग्राफिक डिजाइनर, सॉफ्टवेयर टेस्टर, डाटा एनालिस्ट, आईटी ऑफीसर, आईटी सिक्योरिटी ऑफिसर आदि के रोल में काम मिल सकता है वहीं कई छात्र गवर्नमेंट सेक्टर की कोई नौकरी पाने में सफल होते हैं, जहा उनको स्टेनोग्राफर, आईटी प्रोफेशनल, कंप्यूटर ऑपरेटर, बैंक कॉरस्पॉडेंट, कंप्यूटर डायरेक्टर आदि का रोल मिल सकता हैइस कोर्स को करने के बाद कई बार छात्रों को अच्छे कंपनी में नौकरी या अच्छे प्रोफाइल के लिए परेशान होते हुए देखा गया है इसका कारण होता है कि यह कोर्स बेसिक लेबल का कोर्स है, जिसमें छात्रों को एक बेसिक नॉलेज ही इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी सेक्टर का मिल पाता है,

सैलरी

कोई भी छात्र जब किसी कोर्स में एडमिशन की सोचते हैं तो एक सवाल जो सभी छात्र जानना चाहते हैं, कि इस कोर्स के बाद उन्हें क्या सैलरी मिल सकती है तो इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी से पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद छात्रों को शुरुआती सैलरी 10 से ₹20000 हर महीने का प्राइवेट कंपनी में जॉब प्रोफाइल के अनुसार मिल जाता है, वहीं अगर कोई छात्र सरकारी नौकरी पाने में सफल होता है तो उसे शुरुआती सैलरी 25 से ₹30000 तक मिल सकती है

जरूर पढ़ें
spot_img

मोस्ट पॉपुलर