Thursday, June 30, 2022
Homeआगर मालवाआगर मालवा : साहित्य अकादमी बनाने की मांग को लेकर अब मुख्यमंत्री...

आगर मालवा : साहित्य अकादमी बनाने की मांग को लेकर अब मुख्यमंत्री को पत्र

मालवा निमाड़ की लोकभाषा और संस्कृति बचाने के लिए बनाई जाए साहित्य अकादमी

लोगों की राय, हस्ताक्षर के बाद अब मुख्यमंत्री को पत्र लिखो अभियान शुरू

आगर मालवा । मालवा निमाड़ अंचल के ढाई करोड़ लोगों की लोकभाषा मालवी निमाड़ी बोली, संस्कृति व लोक कला के संरक्षण संवर्धन हेतु मध्यप्रदेश में मालवी निमाड़ी साहित्य अकादमी बनाने की मांग लगातार जारी है । मालवी निमाड़ी साहित्य अकादमी संघर्ष समिति प्रभारी ” भोली बेन” के नेतृत्व में समिति सदस्यों द्वारा साहित्य अकादमी बनाने की मांग को लेकर सबसे पहले लोगों की राय ली गई जिसमें सैकड़ों लोगों ने अपनी राय देकर बताया कि हमारी बोली संस्कृति को विलुप्त होने से बचाने के लिए शासन को जल्द से जल्द साहित्य अकादमी का निर्माण करवाना चाहिए । इसके बाद अकादमी संघर्ष समिति द्वारा मालवा निमाड़ अंचल के 15 जिलों में एक साथ हस्ताक्षर अभियान चलाया गया ।

दो माह चले इस हस्ताक्षर अभियान में हजारों लोगों ने ज्ञापन पत्र पर हस्ताक्षर कर शासन से मांग की है कि मध्यप्रदेश में जल्द से जल्द साहित्य अकादमी की स्थापना की जाए । इसे लेकर बीते सप्ताह हजारों लोगों का हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन पत्र भी अकादमी संघर्ष समिति द्वारा संस्कृति मंत्री को सौंपा जा चुका है। अब हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन पत्र को मुख्यमंत्री को सौंपने की तैयारी की जा रही है । इसीलिए मालवी निमाड़ी साहित्य अकादमी संघर्ष समिति द्वारा इंदौर , उज्जैन संभाग के सभी जिलों में मुख्यमंत्री के नाम से पत्र लिखो अभियान की शुरुआत की गई है,

जिसके अंतर्गत रोजाना बड़ी संख्या में लोग मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मध्यप्रदेश में मालवी निमाड़ी साहित्य अकादमी बनाने की मांग कर रहे हैं । अकादमी संघर्ष समिति के इंदौर प्रभारी पंडित मुकेश शर्मा का कहना है कि जब तक सरकार हमारे मालवा निमाड़ अंचल की लोक भाषा संस्कृति व लोक कला के संरक्षण हेतु साहित्य अकादमी नहीं बनवा देती हमारी मांग भी जारी रहेगी और हर स्तर पर हमारा संघर्ष भी जारी रहेगा।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर