Thursday, February 2, 2023
Homeउज्जैन समाचारऑटो रिक्शा की वैधता पर नकेल की तैयारी….

ऑटो रिक्शा की वैधता पर नकेल की तैयारी….

वैध-अवैध ऑटो की पहचान के लिए एप नए साल के प्रारंभ में हो सकता है लांच

उज्जैन। परिवहन विभाग ने ऑटो रिक्शा की वैधता पर नकेल की तैयारी कर ली है। ऑटो रिक्शा की पहचान के लिए एक एप तैयार किया है। इस एप को नए साल 2023 के प्रारंभ में लांच किया जा सकता है। इससे आम लोगों को ऑटो रिक्शा पूर्ण जानकारी मोबाइल पर ही मिल जाएगी।

परिवहन विभाग द्वारा तैयार एप पर ऑटो रिक्शा की जानकारी अपलोड की जाएगी। यात्री ऑटो रिक्शा का नंबर डालकर पता कर सकते हैं कि यह वैध या अवैध है। इसके पास फिटनेस, परमिट, बीमा है या नहीं। यह पूरी जानकारी एप पर मिलेगी। इसे मध्य प्रदेश ऑटो रिक्शा एप के नाम से संचालित किया जाएगा। वर्ष 2023 की शुरुआत में लांच किया जा सकता है। शासन और न्यायालय के आदेश पर परिवहन विभाग द्वारा कई बार ऑटो रिक्शा के खिलाफ अभियान चलाया गया। अभियान में बड़ी संख्या में अवैध ऑटो रिक्शा पकड़े गए थे।

जो मानकों को पूरा नहीं कर रहे थे। अवैध ऑटो रिक्शा में यात्री का सफर करना सुरक्षित नहीं है। यदि ऑटो रिक्शा दुर्घटनाग्रस्त हो जाता है और उसका बीमा नहीं है तो क्लेम भी नहीं मिलेगा। लोगों को ऑटो रिक्शा की पहचान हो सके, उसके लिए एप लांच किया जा रहा है। ऑटो रिक्शा में यात्रा करने से पहले ऑटो की पहचान की जा सकती है। परिवहन विभाग के आदेश पर प्रदेश के सभी जिला कार्यालयों ने अपने-अपने जिले ऑटो रिक्शा के डेटा ऑनलाइन किया है। जैसे लोग वेबसाइट पर गाडिय़ों का डेटा देख सकते हैं, वैसे ही ऑटो रिक्शा का डेटा भी देख सकते हैं।

ऑटो रिक्शा के परमिट की व्यवस्था की ऑनलाइन

परिवहन विभाग ने ऑटो रिक्शा के परमिट की व्यवस्था ऑनलाइन की है। स्थायी परमिट पांच साल के लिए दिया जाएगा। उसके बाद चार-चार महीने के लिए परमिट को रिन्यूअल किया जाएगा। पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। ऑनलाइन होने पर ऑटो रिक्शा का डेटा अपलोड रहेगा। अभी तक मैनुअल परमिट दिए जाते थे।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर