Monday, February 6, 2023
Homeउज्जैन समाचारचीन नेे बढ़ाई चिंता, फिलहाल शहर में कोरोना के केस जीरो

चीन नेे बढ़ाई चिंता, फिलहाल शहर में कोरोना के केस जीरो

1465178 को लगे वैक्सीन के दोनों डोज बूस्टर 343718 लोगों ने ही लगवाया

उज्जैन। चीन में कोरोना के बढ़ते संक्रमण व नए वैरिएंट मिलने के बाद भारत सरकार ने सभी राज्यों को अलर्ट जारी किया है। हालांकि हमारे लिए अच्छी बात यह है कि लंबे समय से शहर में कोरोना के केस जीरो हैं। वहीं चिंता की बात यह है कि शहर में कुल 15 लाख 74 हजार 418 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने का टारगेट था, लेकिन अब तक 14 लाख 65 हजार 178 लोगों ने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाई है तो बूस्टर 343718 लोगों ने ही लगवाया हैं।

बता दें कि कोविड-वैक्सीनेशन शुरू हुए लगभग दो साल बीत चुका है। तीन लहरें गुजर जाने के बावजूद अबतक उज्जैन में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन नहीं हुआ है। प्रिकॉशन डोज भी ना के बराबर ही लगी हैं। वैक्सीनेशन के बूस्टर डोज के लिए उज्जैन जिले में 15 लाख 74 हजार 418 का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन मात्र 3 लाख 43 हजार 718 लोगों ने ही इसका लाभ लिया। इससे साफ है कि उज्जैन जिले में कोविड-वैक्सीन प्रिकॉशन डोज लगवाने में न तो लोगों ने रूचि दिखाई और न ही स्वास्थ विभाग ने।

मामले में जिला टीकाकरण अधिकारी केसी परमार का कहना है कि अब नए वैरिएंट की बात सामने आ रही है, इसलिए जरूरी है कि हम कोविड के प्रोटोकॉल का पालन शुरू कर दें। खांसी-जुकाम हो तो टेस्ट जरूर कराएं। चूंकि अभी कई दिनों से मरीज नहीं आ रहे थे, इसलिए लोग जांच भी नहीं करवा रहे थे, लेकिन अब लक्षण दिखने पर जांच करवाना जरूरी है।

निर्देश: कोविड पॉजिटिव को करेंगे आइसोलेट जीनोम सिक्वेंसिंग जरूरी

कोविड के संबंध में हेल्थ कमिश्नर ने फिर सभी कलेक्टरों को पत्र लिखकर नई शुरुआती गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत नए कोरोना मरीजों के जीनोम सिक्वेसिंग आवश्यक रूप से कराई जाएगी। ताकि नए वैरिएंट की पहचान करने में देरी न हो। केस पाए जाते हैं तो तुरंत मरीज को आइसोलेट किया जाएगा। इसके साथ ही विदेशों खासकर ऐसे देश जहां कोरोना फैला हुआ है वहां से आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच की जाएं।

कोविशील्ड नदारद

चीन में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले और भारत में नए वैरिएंट के कुछ मामले मिलने के बाद मप्र सरकार ने अलर्ट जारी कर दिया है। ऐसे में उम्मीद है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जल्द ही कोरोना निरोधी वैक्सीन के बूस्टर डोज लगाने के लिए अभियान शुरू किया जा सकता है। हालांकि अभियान छेडऩे से पहले टीके की पर्याप्त व्यवस्था विभाग को करनी होगी। अभी मप्र में कोराना के नए वैरिएंट के मामले नहीं मिले हैं।

इनके आने पर बूस्टर खुराक की मांग बढ़ेगी। बीते दौर में ज्यादातर लोगों ने कोविशील्ड की खुराक ली थी। ऐसे में इसी वैक्सीन की मांग ज्यादा रहेगी। उज्जैन जिला स्वास्थ्य विभाग के पास बूस्टर डोज में कोवैक्सीन के चार हजार बूस्टर डोज स्टॉक में है। आठ हजार की डिमांड भेजी गई हैं। शासकीय केंद्रों पर हो रहे टीकाकरण में फिलहाल कोवैक्सीन उपलब्ध करवाई जा रही है। आगे जरूरत के मुताबिक कोविशील्ड की मांग भी शासन को भेजी जाएगी।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर