Saturday, January 28, 2023
Homeउज्जैन समाचारदर्दनाक हादसा ...स्कूल वाहन को ट्रक ने मारी टक्कर,4 बच्चो की मौत

दर्दनाक हादसा …स्कूल वाहन को ट्रक ने मारी टक्कर,4 बच्चो की मौत

उन्हेल के समीप सुबह 7 बजे दर्दनाक हादसा

ट्रक से टक्कर के बाद स्कूल वाहन चकनाचूर,4 बच्चों की मौत, 11 घायल

दुर्घटना के बाद माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल, मचा कोहराम

उज्जैन/उन्हेल। सोमवार सुबह 7बजे उन्हेल से 10 किलोमीटर दूर एक स्कूल वाहन और ट्रक के बीच भिडं़त हो गई। दुर्घटना इतनी भयानक थी कि स्कूल वाहन चकनाचूर हो गया। इस हादसे में चार बच्चों की मौत हो गई जबकि 11 गंभीर घायल हो गए जिन्हें नागदा और उज्जैन के अलग-अलग अस्पतालों में इलाज दिया जा रहा है। कलेक्टर और एसपी भी अस्पताल पहुंच गए थे।

उन्हेल के बच्चे नागदा के फातिमा कान्वेंट स्कूल में रोज पढऩे के लिए जाते हैं। आज सुबह ये बच्चे टे्रक्स तूफान क्रमांक एमपी-13-BD-2836 से स्कूल जाने के लिए निकले थे। उन्हेल से 10 किलोमीटर दूर हथईपालकी ग्राम के नजदीक उज्जैन की ओर तेज गति से जा रहे ट्रक ने टक्कर मार दी।

स्कूल वाहन में 15 बच्चे सवार थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। घायलों को पहले नागदा के अस्पताल ले जाया गया। बाद में गंभीर घायल बच्चों को उज्जैन भेज दिया गया। हादसे के बाद बच्चों के परिजन बदहवास हो गए। अस्पतालों में उनका रो-रोकर बुरा हाल हो रहा था।

इधर कलेक्टर आशीषसिंह और एसपी सत्येंद्रकुमार शुक्ला भी अस्पताल पहुंच गए थे। कलेक्टर ने बताया कि 4 बच्चों की मौत हुई है। 11 घायल बच्चों को नागदा और उज्जैन के अलग-अलग अस्पतालों में इलाज दिया जा रहा है। ट्रक और स्कूल वाहन के ड्रायवर को हिरासत में ले लिया है।

हमारी पहली प्राथमिकता घायल बच्चों को अच्छा इलाज मिले। घटना की जानकारी मिलने के बाद उज्जैन के संजीवनी अस्पताल में नागदा के फातिमा स्कूल की दो शिक्षिका भी पहुंच गई थी।

स्कूल प्रबंधन ने वाहन से पल्ला झाड़ा

बयान जारी कर कहा-वाहन का स्कूल से अनुबंध नहीं

उन्हेल-नागदा मार्ग पर ट्रक और स्कूली वाहन के बीच हुई दुर्घटना के मामले में स्कूल प्रबंधन ने वाहन स्कूल का होने से साफ इंकार कर दिया है। इसके लिए स्कूल प्राचार्य की ओर से बयान जारी कर कहा गया है कि दुर्घटनाग्रस्त वाहन का स्कूल प्रबंधन से कोई अनुबंध नहीं हैं। फातिमा कांन्वेंट हायर सेकेंडरी स्कूल की प्राचार्य द्वारा जारी बयान में कहा गया कि स्कूल के छात्र-छात्राएं जिस निजी वाहन से सुबह स्कूल आ रहे थे।

उसका किसी भी वाहन स्वामी से कोई अनुबंध नहीं हैं। अभिभावक स्वयं अपनी जिम्मेदारी पर बच्चों को विद्यालय भेजते थे। वे जिस वाहन क्रमांक एमपी-43-बीडी-2836 में सवार थे। उसके दुर्घटनाग्रस्त होने की सूचना मिलने पर स्कूल प्रबंधन द्वारा घटना स्थल पर पहुंचकर घायल विद्यार्थियों को उपचार के लिए स्थानीय और उज्जैन के अस्पतालों में भेजा गया।

दुर्घटनाग्रस्त वाहन में स्कूल के 12 विद्यार्थी थे। इनमें सुमित पिता सुरेश मदारिया 11वीं, निहारिका पिता सुरेश मदारिया 10वीं, पर्व पिता सचिन जैन कक्षा 3, दर्शन पिता सचिन जैन कक्षा 5, अनुष्का पिता भेरूलाल सेकवाडिय़ा कक्षा 10, भव्यांश पिता सतीश जैन कक्षा 6, प्रयाग जैन कक्षा 5, उमा पिता ईश्वरलाल वाकतलिया कक्षा 8, हरीश पिता ईश्वर वाकतरिया कक्षा 6, हिमांशु पिता नारायण मंडावलिया कक्षा 4, प्रियांशी पिता नारायण मंडावलिया कक्षा 2 और अक्षत पिता पवन ढोढरिया कक्षा 3 हैं।

वाहन में फंसे बच्चों को बाहर निकाला: घटना स्थल पर लोगों की भीड़ लग गई थी। वाहन में फंसे बच्चों को मुश्किल से बाहर निकाला गया। कलेक्टर के अनुसार वाहन में कक्षा 6से 12 वीं तक के बच्चे सवार थे। वाहन को स्कूल से अटैच किया गया था। यह वाहन रतलाम आरटीओ से पासिंग हैं। इसमें क्षमता से अधिक बच्चे बैठाए गए थे।

Shahi Sawari 2

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर