Thursday, February 2, 2023
Homeउज्जैन समाचारपत्नी ने चाय नहीं बनाई तो पति ने पीटकर हत्या कर दी

पत्नी ने चाय नहीं बनाई तो पति ने पीटकर हत्या कर दी

पत्नी ने चाय नहीं बनाई तो पति ने पीटकर हत्या कर दी, आरोपी गिरफ्तार

उज्जैन। झारड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम घट्टिया साईंदास में पति-पत्नी के बीच विवाद हो गया। पति ने लकड़ी का पटिया मारकर पत्नी की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि पप्पूनाथ ने शनिवार को पत्नी शोभा को चाय बनाने के लिए कहा था।

शोभा ने इंकार कर दिया। इससे दोनों में जमकर विवाद हो गया था। गुस्से में पप्पू ने शोभा के सिर पर रोटी बनाने का चकला दे मारा। इससे पत्नी की मौत हो गई। पप्पू ने आसपास लोगों से कहा था कि पत्नी करंट लगने से झुलस गई है। शंका के आधार पर डाक्टर ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने पप्पू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने सिर पर चकला मारने की बात स्वीकार कर ली। मामले में हत्या का केस दर्ज किया गया है

राजस्व अमले और पुलिस पर पथराव, 6 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज

उज्जैन। रविवार को कुछ लोगों ने राजस्व अमले और पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने ६ लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। घटना रविवार दोपहर देवास रोड स्थित नॉलेज सिटी की विक्रम उद्योगपुरी की है। पुलिस के अनुसार विक्रम उद्योगपुरी में एक दवा कंपनी को 30 बीघा जमीन आवंटित की गई है। इस पर कुछ लोगों ने कब्जा किया हुआ था।

जमीन से कब्जा मुक्त कराने गए पुलिस व राजस्व अमले पर ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। जिस कंपनी को भूमि आवंटित की गई, उसके अधिकारियों से भी झूमाझटकी की। विक्रम उद्योगपुरी में दवा फैक्टरी के लिए सीम बायोटेक लाइफ साइंसेस कंपनी को शासन ने जमीन आवंटित की है।

यह असिंचित भूमि पूर्व में दिनेश पिता अनूप चौधरी निवासी गावड़ी नरवर, कालूसिंह राजपूत, रमेश चौधरी, तेजराम चौधरी, बनेसिंह निवासी नरवर की थी। इन्हें शासन द्वारा मुआवजा भी दिया जा चुका है लेकिन वर्तमान गाइड लाइन व सिंचित भूमि के अनुसार मुआवजे की मांग को लेकर कालूसिंह व अन्य ने कोर्ट में केस लगा दिया। इसमें कोई स्टे नहीं है। इसके चलते शनिवार को कंपनी को राजस्व अमला जमीन का कब्जा दिलाने पहुंचा था।

कल संविदा कर्मचारियों का जेल भरो आंदोलन

उज्जैन। संविदा कर्मचारियों का जेल भरो आंदोलन मंगलवार को होगा। इसमें कर्मचारी गिरफ्तारी देकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत कार्यरत संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी दो प्रमुख मांगों को लेकर 20 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। इस दौरान भोपाल जिले में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर आदतन बदमाशों की तरह ले गई।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर