Monday, May 16, 2022
Homeउज्जैनमहाकाल मंदिर की व्यवस्था में फिर बदलाव...

महाकाल मंदिर की व्यवस्था में फिर बदलाव…

10 घंटे तक आम श्रद्धालुओं के लिए खुले रहेंगे गर्भगृह के द्वार

सुबह 6 बजे से शाम 4.30 बजे तक सामान्य प्रवेश, भीड़ बढऩे पर रोक देंगे प्रवेश, तब रसीद कटाकर जा सकेंगे

उज्जैन।महाकाल मंदिर के गर्भगृह में अधिक से अधिक आम श्रद्धालुओं को दर्शन कराने के लिए मंदिर समिति प्रबंध समिति ने नई व्यवस्था की है। श्रद्धालुओं को महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग पर जल चढ़ाने के लिए तड़के की भस्म आरती के बाद से शाम 4.30 बजे तक गर्भगृह के द्वार खुले रखे जाएंगे। इस दौरान कोई भी श्रद्धालु गर्भगृह में जा सकेगा। उसे किसी तरह की रसीद नहीं कटाना पड़ेगी, लेकिन जिस दिन भीड़ अधिक होगी तब गर्भगृह में प्रवेश रोक दिया जाएगा।

केवल तब ही रसीद कटाकर अंदर जा सकेंगे। इसके अलावा शाम 4.30 बजे के बाद गर्भगृह में शयन आरती तक प्रवेश बंद रहेगा। पुजारी, पुरोहित और प्रोटोकॉल से गर्भगृह में 1500 रुपए की रसीद से दर्शन की व्यवस्था यथावत लागू रहेगी। पूजन सामग्री, प्रसाद, फूल आदि प्रतिबंधित होंगे। महाकाल मंदिर समिति के प्रशासक गणेश धाकड़ ने बताया कि भीड़ अधिक होने पर सभी श्रद्धालुओं का प्रवेश रोक दिया जाएगा, तब बेरिकेडिंग के यहां से ही दर्शन कर सकेंगे। इस दौरान श्रद्धालुओं को रसीद कटाने के बाद गर्भगृह में जाने की अनुमति दी जाएगी। श्रद्धालुओं को सुविधाजनक तरीके से दर्शन कराने के लिए मंदिर समिति ने हरसिद्धि चौराहे से कतार लगाने की व्यवस्था की है। हरसिद्धि चौराहे की तरफ से बेरिकेडिंग की गई है। बता दें कि महाकाल मंदिर के गर्भगृह में आम श्रद्धालुओं को प्रवेश देने का दौर २१ महीने बाद ६ दिसंबर से सुबह से वक्त केवल दो से ढाई घंटे के लिए प्रारंभ किया गया था।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर