Monday, November 28, 2022
Homeउज्जैन समाचारलूट और चोरी के मामलों में पुलिस 15 दिन से खाली हाथ

लूट और चोरी के मामलों में पुलिस 15 दिन से खाली हाथ

संदिग्धों से पूछताछ कर छोड़ा, लेकिन नहीं मिल पाए सुराग..

उज्जैन। लूट और चोरी के मामलों में पुलिस 15 दिन बीतने के बाद भी आज खाली हाथ है। जांचकर्ता और अफसरों का कहना है कि संदिग्धों को पकडकर पूछताछ कर चुके हैं लेकिन ठोस सुराग हाथ नहीं लगा है।

पिछले 15 दिनों में शहर के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में हुई चोरी व लूट की इन बड़ी वारदातों में पुलिस की टीमें, जांचकर्ता अधिकारी अब भी खाली हाथ हैं। लूट के मामले में पंवासा थाना प्रभारी गजेन्द्र पचौरिया ने बताया कि पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे चेक करने के अलावा संदिग्धों की धरपकड़ भी की लेकिन लूट करने वालों का सुराग हाथ नहीं लगा है।

यह हैं वारदातों के आंकड़े

1. कृष्णपाल ठाकुर 22 वर्ष निवासी महावीर बाग कॉलोनी इंदौर रोड नम्र फाइनेंस कंपनी में फील्ड ऑफिसर है। वह अपने दोस्त नंदकिशोर के साथ बाइक से गांवों में रिकवरी करने के बाद मक्सी रोड से घर लौट रहा था तभी रात 8.30 बजे उसे मां उमिया कोल्ड स्टोरेज के पास तीन नकाबपोश बदमाशों ने पीछे से आकर बाइक में लात मारकर गिराया और

1.66 लाख रूपये से भरा बैग छीनकर भाग गये। बदमाशों ने कृष्णपाल को पिस्टल दिखाकर धमकाया था। पंवासा पुलिस ने मामले में केस दर्ज किया लेकिन बदमाशों का कोई सुराग हाथ नहीं लगा।

2. शीला खंडेलवाल निवासी चंद्रावतीगंज बैकुंठ चतुर्दशी पर सिद्धवट मंदिर में दूध चढ़ाने पहुंची थी। यहां श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के लिये तीन थानों का पुलिस बल लगा था। इनके बीच में ही अज्ञात बदमाश ने महिला के गले से सोने की चैन चोरी कर ली जिसकी रिपोर्ट भेरूगढ़ थाने में दर्ज कराई गई, लेकिन चैन चुराने वाले का अब तक कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा।

3. जितेश नीमा की पटनी बाजार स्थित शांतिलाल मुन्नालाल सोने चांदी आभूषण की दुकान से सोने की चैन महिला व पुरुष ग्राहक ने चोरी कर ली थी। दुकान संचालक ने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज भी उपलब्ध कराये लेकिन चोरों का पता नहीं चला है।

4. महेन्द्र तारनेकर निवासी एमआईजी अलखनंदा कॉलोनी मंदसौर में एएसपी हैं। उनके भाई गजेन्द्र परिवार के साथ यहां रहते हैं। वह परिवार के साथ हरिद्वार गए थे। इसी दौरान अज्ञात बदमाश ने मकान का ताला तोड़कर चोरी की वारदात को अंजाम दिया। जिसकी रिपोर्ट नानाखेड़ा थाने में दर्ज कराई गई।

इसी प्रकार रिषी नगर एक्सटेंशन में रहने वाले प्रो. डॉ. विक्रम वर्मा के घर का ताला तोड़कर भी चोरों ने वारदात को अंजाम दिया जिसकी रिपोर्ट नानाखेड़ा थाने में दर्ज कराई गई। इस मामले में भी चोरों का सुराग हाथ नहीं लगा है।

जरूर पढ़ें
spot_img

मोस्ट पॉपुलर