Tuesday, February 7, 2023
Homeउज्जैन समाचारसुबह में मावठे की तेज बारिश….ठिठुरे शहरवासी

सुबह में मावठे की तेज बारिश….ठिठुरे शहरवासी

मंगलवार सीजन का सबसे सर्द दिन रहा:पारा 9.5 डिग्री लुढ़का

24 घंटे में करीब आधा इंच पानी बरसा सर्दी से बचने के लिए जला रहे अलाव…

उज्जैन।बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान साइक्लोन मैंडूस का प्रभाव पूरे प्रदेश के साथ शहर में दिखाई दे रहा है। मंगलवार को हल्की बूंदाबांदी के बाद आज सुबह शहर के कई हिस्सों में तेज बारिश हुई। इससे पानी सड़कों से बह निकला और लोगों को कड़ाके की ठंड महसूस हुई। सुबह काम के सिलसिले में घर से निकले लोगों और बच्चों को अचानक हुई बारिश से परेशानी हुई। हालांकि सुबह १० बजे बाद मौसम कुछ साफ होने लगा और सूरज भी बादलों की ओट से बाहर निकल आया।

सोमवार से ही आसमान में बादलों ने डेरा जमा रखा है। कल हल्की बूंदाबांदी ने मौसम में ठंडक घोल दी थी। इसके बाद बुधवार सुबह 8 बजे से बारिश का दौर शुरू हुआ। शहर में कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश होती रही। घर से काम लिए निकले लोगों को सड़क किनारे खड़े होकर बारिश थमने का इंतजार करना पड़ा। सुबह में घने बादलों के कारण रोशनी भी कम रही। सड़कों पर हेडलाइट्स चमकते रहे।

पिछले चौबीस घंटे में करीब आधा इंच पानी बरसा। मंगलवार का दिन सीजन का सबसे सर्द दिन रहा। इस दौरान दिन का अधिकतम तापमान 9.5 डिग्री सेल्सियस लुढ़क गया और 31.5 डिग्री से 22.0 डिग्री पर आ गया। बीती रात को न्यूनतम तापमान तीन डिग्री कम होकर 16.4 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार मौसम साफ होने के बाद तापमान में कमी आएगी और ठंड बढ़ेगी। इधर ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। वहीं दिनभर गरम कपड़ों में भी नजर आ रहे हैं।

मावठे की बारिश से फसलों को फायदा

मावठे की बारिश फसलों के लिए अमृत समान है। जहां पर अधिक पानी बरसा है, वहां पर किसानों को कुछ दिन सिंचाई नहीं करना पड़ेगी। कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार इन दिनों रबी फसलों की बुवाई हो चुकी है। मावठे का यह पानी बिलकुल समय पर गिरा है। ऐसे में यूरिया का खाद मिलने से फसलों में बढ़त तेजी से होगी।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर