Monday, November 28, 2022
HomeकरियरGraphic Design में बनाएं अपना Career

Graphic Design में बनाएं अपना Career

आज ऑनलाइन व्यापार के दौर में कंपनियों के लिए विजुअल प्रेजेंटेशन का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है। वहीं गेमिंग इंडस्ट्री जैसे क्षेत्रों में गजब की तेजी आई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में ग्राफिक डिजाइनिंग के क्षेत्र में लगभग एक लाख से अधिक प्रोफेशनलों की आवश्यकता है। दरअसल, जब कंपनियों के काम डिजिटल मंच पर आते हैं, तो उन्हें कई स्किल की एक साथ जरूरत पड़ती है। इनमें से ग्राफिक डिजाइन का स्किल भी एक है।

यही कारण है कि इस समय अपैरल ग्राफिक डिजाइनर, लोगो डिजाइनर, पैकेजिंग डिजाइनर, मल्टीमीडिया डिजाइनर जैसे नए पद भी देखने को मिल रहे हैं। वेब और ऐप डेवलपमेंट के क्षेत्र में यूजर इंटरफेस/यूजर एक्सपीरिएंस की डिजाइनिंग में भी ग्राफिक डिजाइनिंग का दखल देखने को मिल रहा है।

यदि कोई क्रिएटिव है और डिजाइनिंग में उसकी रुचि है, तो ग्राफिक डिजाइनिंग में प्रयोग होने वाले सॉफ्टवेयर जैसे एडोब फोटोशॉप , इलस्ट्रेटर, इन-डिजाइन, कोरल ड्रॉ, कैड आदि पर अच्छी पकड़ के साथ वह इस क्षेत्र में बहुत आगे जा सकता है। दृश्य कल्पना और आइडिया को विकसित करने की क्षमता भी जरूरी है।

क्या होगी राह
ग्राफिक डिजाइन एक ऐसी कला है, जिसमें आप अपनी क्रिएटिविटी और सॉफ्टवेयर की सहायता से किसी जानकारी या विचार को प्रस्तुत करते हैं, डिजाइन तैयार करते हैं। ग्राफिक डिजाइनर बनने के लिए किसी भी स्ट्रीम से बारहवीं पास होना जरूरी है। ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद भी ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स कर सकते हैं। इस क्षेत्र में डिग्री और डिप्लोमा, दोनों प्रकार के कोर्स उपलब्ध हैं।

फीस संस्थान और कोर्स के स्तर के अनुसार होती है। आपको बता दें कि डिजाइनिंग के राष्ट्रीय संस्थानों और जाने-माने निजी संस्थानों में कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा देनी होती है। इसके अलावा, कई संस्थान सप्ताहांत में भी प्रोफेशनल को ग्राफिक डिजाइनिंग का प्रशिक्षण देते हैं।
इसके लिए वे अलग से फीस लेते हैं।

कई संस्थान सर्टिफिकेट कोर्स भी उपलब्ध कराते हैं।

  • प्रमुख कोर्स एवं ऑनलाइन मंच
  • बैचलर इन फाइन आर्ट्स
  • बीएससी इन मल्टीमीडिया
  • डिप्लोमा इन ग्राफिक डिजाइनिंग
  • एडवांस डिप्लोमा इन ग्राफिक डिजाइन
  • पीजी डिप्लोमा प्रोग्राम इन ग्राफिक डिजाइन
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स- ग्राफिक डिजाइनिंग
  • सर्टिफिकेट इन थ्री-डी एनिमेशन
  • सर्टिफिकेट इन ग्राफिक डिजाइन

ऑनलाइन मंचों से भी आप ग्राफिक डिजाइनिंग से जुड़े कई स्किल ट्रेनिंग कोर्स कर सकते हैं। उडेमी और कोर्सेरा जैसे मंचों पर ऐसे कई सर्टिफिकेट कोर्स उपलब्ध हैं।

नौकरी के अवसर
कॉपीराइटर, क्रिएटिव डायरेक्टर, इलस्ट्रेटर, क्लाइंट्स, मार्केटिंग टीमों आदि के साथ मिलकर ग्राफिक डिजाइनर कंटेंट पर काम करते हैं। आज के दौर में अमेजन, जोमैटो, टीसीएस जैसी कंपनियों में भी ग्राफिक डिजाइनर के लिए नियुक्तियां निकलती हैं।

अगर आप ग्राफिक डिजाइन के साथ यूएक्स/यूआई डिजाइन का स्किल भी सीख लेते हैं, तो आपके लिए मौकों में और बढ़ोतरी होगी। बतौर ग्राफिक डिजाइनर आप वेबसाइट डेवलपमेंट, मार्केटिंग, एडवरटाइजिंग एजेंसी, पब्लिकेशन हाउसेज, मीडिया एंड एंटरटेनमेंट, कंप्यूटर गेम्स, प्रोडक्ट पैकेजिंग इंडस्ट्री, कॉरपोरेट कम्यूनिकेशन, कॉरपोरेट आइडेंटिटी जैसे क्षेत्रों में काम के मौके मिलेंगे। फ्रीलांसिंग में भी अच्छी आय कर सकेंगे।

वेतन
शुरुआत में 15,000 रुपये प्रतिमाह तक आसानी से मिल जाते हैं। अनुभव के बाद आमदनी 25 से 30 हजार रुपये प्रतिमाह तक हो जाएगी। फ्रीलांसर के तौर पर आपकी योग्यता आपके लिए शानदार आमदनी के रास्ते बना सकती है।

प्रमुख संस्थान

  • आईआईटी, मुम्बई; गुवाहाटी
  • कॉलेज ऑफ आर्ट, दिल्ली
  • एरीना एनिमेशन
  • सिम्बॉयोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, पुणे
  • माया एकेडमी, पुणे
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद
  • आर्च कॉलेज ऑफ डिजाइन, जयपुर
  •  पर्ल एकेडमी, दिल्ली

1 लाख से अधिक ग्राफिक्स पेशेवरों की आवश्यकता है भारत में, ग्राफिक डिजाइनिंग के क्षेत्र से जुड़ी अलग-अलग इंडस्ट्रीज में।

विशेषज्ञ की राय

कई सारे सैस (सॉफ्टवेयर एज सर्विस) स्टार्टअप, जैसे- canva.com, adobe sketch, adobe creative cloud जैसी वेबसाइट ने ग्राफिक डिजाइन के क्षेत्र में क्रांतिकारी कार्य किया है। ऐसे में ग्राफिक डिजाइन के क्षेत्र में स्टार्टअप से लेकर बड़ी एजेंसी खोलने तक का सपना साकार कर सकते हैं। स्किल अपडेट करके आप डिजिटल दुनिया का हिस्सा भी बन सकते हैं।

जरूर पढ़ें
spot_img

मोस्ट पॉपुलर