क्रिकेट के सटोरियों से जब्त करोड़ों रु.की सुरक्षा के लिये सशस्त्र गार्ड तैनात

By AV NEWS

इनकम टैक्स विभाग भी करेगा पूछताछ, चौकीदार को बन सकता है गवाह

अक्षरविश्व न्यूज. उज्जैन:गुरुवार-शुक्रवार की दरम्यिानी रात एसपी प्रदीप शर्मा के निर्देशन में नीलगंगा, खाराकुआं और क्राइम ब्रांच की टीम ने हरिफाटक-इंदौर रोड़ बायपास स्थित ड्रीम 19 कालोनी और मुसद्दीपुरा स्थित मकान पर दबिश देकर 15 करोड़ से अधिक नगद रुपये बरामद कर क्रिकेट व ऑनलाइन गेमिंग के सट्टे का खुलासा करते हुए 9 लोगों को गिरफ्तार किया था। पुलिस आज उक्त आरोपियों को कोर्ट में पेश कर रिमाण्ड लेकर पूछताछ करेगी।

नीलगंगा पुलिस ने बताया कि 19 ड्रीम कालोनी के मकान नंबर 18 में प्रथम तल पर बने कमरे से जसप्रीत उर्फ रूबत पिता हरमंदर सिंह 30 वर्ष निवासी लुधियाना पंजाब, रोहित पिता सुरजीत सिंह 26 वर्ष निवासी रेलवे कालोनी नीमच, गुरधीत सिंह पिता सरदार गुरमिल सिंह 36 वर्ष निवासी लुधियाना पंजाब, मयूर जैन पिता विजय जैन 30 वर्ष निवासी बगाना नीमच, सतप्रीत सिंह पिता परमजीत सिंह 34 वर्ष निवासी लुधियाना, आकाश मसीही पिता अजय मसीही 26 वर्ष निवासी मिशन अस्पताल के पास नीमच, चेतन नेगी पिता पूरणचंद नेगी निवासी लुधियाना, हरीश पिता राजमल निवासी निम्बाहेड़ा राजस्थान, गौरव पिता सूरजमल जैन निवासी मंचन नगर नीमच को गिरफ्तार कर इनके कब्जे से इंडियन करंसी के अलावा विदेशी मुद्रा और लेपटॉप, मोबाइल आदि ऑनलाइन सट्टे में प्रयुक्त उपकरण जब्त किये थे। पुलिस ने उक्त आरोपियों के खिलाफ धारा 419, 420, 467, 468, 109, 120 बी, पब्लिक गेम्बिलिंग एक्ट तथा 66 डी आईटी एक्ट में केस दर्ज किया है।

कोर्ट के निर्देश पर जमा होंगे रुपये

पुलिस ने बताया कि बदमाशों के कब्जे से जब्त हुए 14.58 करोड़ रुपये नगद के साथ उन्हें कोर्ट में पेश किया जायेगा। वर्तमान में उक्त नोट 11 बैग में भरकर नीलगंगा थाने में सशस्त्र पुलिस बल की अभिरक्षा में रखा गया है। कोर्ट पेशी के दौरान सभी आरोपियों की रिमाण्ड मांगी जायेगी व कोर्ट के निर्देश पर ही उक्त रुपयों को शासकीय कोष में जमा कराया जायेगा। पुलिस ने बताया कि आरोपियों से पुलिस के अलावा नोटों के संबंध में इनकम टैक्स विभाग को भी पूछताछ करना है कि इतनी बड़ी मात्रा में देशी और विदेशी करंसी किस प्रकार एकत्रित की और इसका उपयोग किस काम में किया जाना था।

फरार सरगना की तलाश के लिये बनी टीम

पुलिस कार्रवाई की भनक लगने के बाद उक्त कारोबार को संचालित करने वाला सरगना पीयूष चौपड़ा फरार हो गया था। उसके घर से पासपोर्ट पुलिस ने जब्त किये हैं। पुलिस का कहना है कि उसके देश छोड़कर भागने के मद्देनजर गृह मंत्रालय से संपर्क किया जा रहा है वहीं पीयूष की गिरफ्तारी के लिये एक टीम का गठन कर उसकी तलाश शुरू की गई है।

Share This Article