प्रसूता को ले जा रहे कार चालक को गाड़ी सहित जिंदा जलाने की दी धमकी

By AV NEWS

अपराधों को लेकर एसपी सख्त, बोले- थाने में करें शिकायत,

मैं भी 10 से शाम 5 तक अपने ऑफिस में आमजन के लिए उपलब्ध हूं

उज्जैन। शहर में गुुंडे बदमाशों से परेशान आमजन स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। स्थिति यह है कि इमरजेंसी के समय अस्पताल जाने के दौरान बाइक सवारों से हार्न बजाकर एक व्यक्ति का साइड मांगना उस समय भारी पड़ गया जब उसने बीच रास्ते पर चल रहे बाइक सवारों को टोका तो उसे जवाब मिला कि इतना रास्ता पड़ा है साइड से निकाल ले, नहीं तो गाड़ी सहित जिंदा जला देंगे।

हालांकि उक्त व्यक्ति ने थाने पहुंचकर बदमाशों की शिकायत तो नहीं की, लेकिन सोशल मीडिया के फेसबुक ग्रुप उज्जैन वाले पर अपनी पोस्ट डाली जिस पर ग्रुप के सदस्यों ने पुलिस प्रशासन के बारे में अपने विचार कुछ इस तरह व्यक्त किए। जबकि पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा का कहना है कि लोगों को कोई परेशानी है तो वह थाने या सीधे मुझसे शिकायत कर सकते हैं।

पीडि़त ने फेसबुक ग्रुप पर इस तरह लिखी थी आपबीती

बहुत ही दुखद क्या बाबा महाकाल की नगरी में रहकर भी हम अपने आपको सुरक्षित महसूस नहीं कर सकते। हमारे घर के सामने हमारे मित्र हैं विकास यादव उनकी पत्नी का डिलीवरी केस था वे रात को हमारे घर पर 12.30 बजे आए और उन्होंने हमसे कहा कि आपकी कार से तुरंत चरक हॉस्पिटल ले चलो मेरी पत्नी को बहुत दर्द हो रहा है। उसी समय तुरंत हमने अपनी कार से विकास यादव की पत्नी और उनकी सास को कार में बैठाकर अस्पताल की ओर रवाना हुए, तभी ऋषिनगर पेट्रोलपंप से आगे अपना स्वीट के सामने कुछ 2 से 3 बाइक सवार युवा रास्ता घेर कर बाइक चला रहे थे।

हमें तुरंत अस्पताल जाना था तो हमने हॉर्न बजाकर साइड मांगी। हमारे हार्न बजाने पर भी उन्होंने हमें रास्ता नहीं दिया। यह 12.48 बजे की बात है। हमने उनसे कहा कि हमारे साथ डिलीवरी पेशेंट है। हमें अर्जेंट जाना है हमें रास्ता दे दो तो उन्होंने हमें अपशब्दों का उपयोग किया। गाली-गलौज की और कहा कि तुझे गाड़ी सहित ही जिंदा जला देंगे।

इतना रास्ता पड़ा है साइड से निकल जा। बड़ी विडंबना है कि हम मुसीबत में हमें कहीं इमरजेंसी ऐसी जगह पहुंचाना हो और ऐसे असामाजिक तत्वों की वजह से हम समय पर नहीं पहुंच पाए और एक भय का माहौल बना रहे कि उनके द्वारा दी गई धमकियां वाक्य में कहीं सही साबित ना हो जाए। हम तो शासन प्रशासन से निवेदन करते हंै कि रात्रि 12.48 बजे अपना स्वीट के सामने सीसीटीवी फुटेज निकलवाकर आसामाजिक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई की जाए ताकि आगे से किसी भी आमजनता को ऐसी परेशानी का सामना न करना पड़े? सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने का यही कारण था कि आवेदन तो मेरा अकेले का जाता थाने पर, लेकिन आज उज्जैन शहर की आवाज प्रशासन तक जाएगी सोशल मीडिया के माध्यम से जितेन्द्र राठौर

सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट पर ग्रुप सदस्यों ने इस तरह दी प्रतिक्रियाएं

पुलिस को सूचना अवश्य करें।-कुमार अरुण यादव

शहर में ट्रैफिक की व्यवस्था ही नहीं है, सब लूट का सच में लगे हुए हैं।-आशीष कुमावत

उज्जैन की ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है।-लोकेश फाल्के

आप तुरंत आज ही विकास जी के साथ जाकर थाना माधव नगर में एफआईआर करवाइए।-शैलू यादव

सभी जगह ट्रैफिक का यही हाल है। रास्ते के बीच में वाहन खड़े करने वाले 90 प्रतिशत रांग साइड चलने वाले, पर कोई देखने वाला नहीं है। -सतीश देव

मैं आपसे पूर्णरूप से सहमत हूं। शासन को जरूर कार्यवाही करनी चाहिए हम अपील ही कर सकते हैं।-मालवीय

कम से कम उज्जैन जिला तो अपराध मुक्त होना चाहिए और एक मॉडल बनकर प्रदेश और देश का प्रेरक बनना चाहिए। तत्काल कठोर कार्यवाही की अपेक्षा है।-वीरेंद्र कुमार सुमन

डर लगता है तो थाने में जाकर रिपोर्ट करो। सोशल मीडिया पर पोस्ट करने से प्रोटेक्शन नहीं मिलेगा और ना ही कोई कार्यवाही होगी।-सुरेंद्र ठाकुर

बाहर से आने वाले असामाजिक तत्व धीरे-धीरे हमारे उज्जैन के बच्चों को बिगाड़ यहां का माहौल खऱाब कर रहे हैं। यह हम सभी नगर वासियों की जिम्मेदारी है कि हमें मिलकर कोई ठोस कदम उठाना चाहिए। जिसमें शासन, प्रशासन भी साथ हो और नेताओं को सच्चे दिल से नि:स्वार्थ भाव से जनता का समर्थन करना चाहिए।-एके निगम

आपको वीडियो बनाना था। सुबह सब लाइन पर आ जाते मोबाइल किसलिए है आपके पास बात करने के लिए या वीडियो गेम खेलने के लिए नहीं भाई बहुत काम की चीज है मोबाइल अब कभी ऐसी गलती मत करना तुरंत जेब से मोबाइल निकलकर तुरंत वीडियो बना ले और तुरंत ही नजदीक पुलिस थाने को खबर करेें आप घबराए नहीं अभी भी कार्रवाई होगी पर आपको थाने जाकर बताना होगा।-प्रेम कुमार आठिया

एक ओर संज्ञान करने वाली बात ये है कि जब से आहाते बंद हुए हैं तब से शराबी लोग वाइन शॉप के सामने या आसपास ही अपनी महफिल जमा लेते हैं और खासकर इंदौर गेट से दौलतगंज वाले रास्ते पर जो वाइन शॉप है वहां तो रात 7-8 बजे से पूरे सड़क के दोनों तरफ यही हाल है और महाकाल दर्शन के यात्री भी वहीं से गुजरते है उनमें महिला यात्री भी होते हंै क्या मैसेज जाएगा धार्मिक नगरी का ये हाल है प्रशासन सोया हुआ है।-हरीश सावलानी

उज्जैन शहर में असामाजिक तत्वों की गतिविधियां कई गुना बढ़ चुकी है। प्रशासन का भी इस पर कोई ध्यान नहीं है।-महेश जोशी

पूर्ण रूप से में भी सहमत हूं,18 की रात को ऐसा ही हादसा हुआ, 11 से 12 के बीच सोयाबीन प्लांट गेट के सामने मुझे भी रोकने की कोशिश की गई, मेरी पूरी फैमिली साथ थीं।-अमजद खान

कार्यवाही के लिए थाने मे रिपोर्ट करना होगी, सोशल मीडया पर लिखने से कार्यवाही नहीं होगी।-अजय गणेश

शिकायत मिली तो वैधानिक कार्रवाई करेगी पुलिस…

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही उक्त पोस्ट के संबंध में एएसपी गुरूप्रसाद पाराशर से चर्चा की गई तो उनका कहना था कि ट्रैफिक की व्यवस्था एएसपी जयंत राठौर के पास है। सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट के संबंध में यदि थाने पर शिकायत प्राप्त होती है तो पुलिस द्वारा संबंधितों के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

फेसबुक पर वायरल पोस्ट के विषय में पुलिस ले चुकी संज्ञान

इस तरह सोशल मीडिया पर पोस्ट से शहर की ही बदनामी होती है। यदि किसी के साथ कोई भी घटना या दुर्घटना होती है उसके निराकरण के लिये पुलिस 24 घंटे तैयार रहती है। मैं स्वयं सुबह 10 से शाम 5 बजे तक ऑफिस में बैठता हूं। आमजन सीधे तौर पर मुझसे मिल सकते हैं। ऐसी पोस्ट वायरल करने से समस्या का समाधान नहीं होता है। यदि शिकायत के बाद भी पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं की जाती है तो मुझसे सीधे शिकायत कर सकते हैं। हालांकि जो पोस्ट फेसबुक ग्रुप के उज्जैन वाले ग्रुप पर वायरल हो रही है उस पर पुलिस संज्ञान ले चुकी है। सीएसपी माधव नगर उस घटना पर काम भी कर रही हैं।-प्रदीप शर्मा, पुलिस अधीक्षक

Share This Article