Monday, February 6, 2023
Homeउज्जैन समाचारपुलिस की अनदेखी का फायदा उठा रहे ऑटो चालक

पुलिस की अनदेखी का फायदा उठा रहे ऑटो चालक

किराया और सही जानकारी नहीं होने से ठगे जाते हैं बाहर से आने वाले लोग

उज्जैन। शहर में दौड़ रहे 6000 से अधिक ऑटो के चालकों द्वारा मनमानी का आलम यह है कि प्रशासन द्वारा निर्धारित दरों से दोगुने रुपए यात्रियों से वसूले जा रहे हैं। खास बात यह कि यातायात पुलिस को पूरी जानकारी होने के बाद भी ऐसे ऑटो चालकों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। जबकि रेलवे स्टेशन और महाकाल मंदिर के सामने स्थित प्रीपेड बूथ पर प्रशासन द्वारा प्रत्येक स्थान और मंदिर पर जाने की रेट लिस्ट यात्रियों की सुविधा के लिए चिपकाए गई है प्रीपेड बूथ पर ड्यूटी करने वाले यातायात पुलिस के जवान कहते हैं कि हम ऑटो चालकों को टोकते हैं तो उनका कहना होता है कि रेट लिस्ट 6 वर्ष से अधिक पुरानी है और वर्तमान में महंगाई और सीएनजी के भाव दोगुने हो चुके हैं। ऐसे में पुरानी रेट लिस्ट से यात्रियों को ले जाना मुश्किल है।

धार्मिक राजधानी उज्जयिनी में प्रतिदिन हजारों की संख्या में देश विदेश के श्रद्धालु देवदर्शन के लिये उज्जैन आते हैं। उन्हीं की सुविधा के लिये पुलिस विभाग द्वारा रेलवे स्टेशन, नानाखेड़ा बस स्टैंड और महाकालेश्वर मंदिर पर प्रीपेड बूथ बनाये गए थे। वर्तमान में यह प्रीपेड बूथ किस हालत में है इसकी जानकारी अक्षरविश्व की टीम द्वारा जुटाई गई। जिसमें सामने आया कि महाकालेश्वर मंदिर के सामने स्थित प्रीपेड बूथ पर नियमों का पालन नहीं हो रहा। इसके अलावा शहर में अन्य जगह लगाए गए प्रीपेड बूथ बंद पड़े हैं। कर्मचारियों की कमी का हवाला देकर इनका संचालन नहीं किया जा रहा है।

महाकाल से 6 मंदिरों के दर्शन कराने पर ले रहे 250 की जगह 500 रुपए

यह हैं नियम

प्रीपेड बूथ पर कोई भी व्यक्ति पहुंचता है और उसे ऑटो वाहन से कहीं भी आवागमन करना है तो उसके शासन द्वारा निर्धारित किराये पर पुलिस द्वारा वाहन उपलब्ध कराया जाएगए। ऑटो चालक यात्री से मनमाना किराया वसूल नहीं कर सकता। बूथ से ही पुलिसकर्मी ऑटो का नंबर और चालक का नाम लिखकर किराये की राशि अपने पास रखते व पर्ची यात्री को देंगे। सवारी को सकुशल गंतव्य पर पहुंचाने के बाद यात्री पर्ची वापस ऑटो चालक को देगा। यह पर्ची प्रीपेड बूथ के पुलिसकर्मी को देने पर उसे किराये की राशि दे दी जायेगी।

auto rent suci

इनका कहना

प्रीपेड बूथ पर महाकालेश्वर मंदिर से रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड से लेकर सभी मंदिरों तक जाने के किराये की सूची लगी है। उसी के आधार पर यात्रियों को ऑटो उपलब्ध कराये जाते हैं। यह रेट लिस्ट 6 साल पुरानी है। कई ऑटो चालक रेट बढ़ाने की बात कहते हैं। हालांकि यह मामला आरटीओ से संबंधित है, इस कारण पुरानी रेट लिस्ट से ही काम चला रहे हैं। महाकाल मंदिर से उज्जैन दर्शन अंतर्गत आने वाले 6 प्रमुख मंदिरों के दर्शनों के लिये 250 रुपये शुल्क निर्धारित है जिसमें पूरा आटो बुक होता है। सवारियों की संख्या 3-4 हो सकती है।
सत्येन्द्र सिंह, एएसआई प्रीपेड बूथ

अब ऐसे हो रहा संचालन….

महाकाल मंदिर के सामने स्थित प्रीपेड बूथ पर यातायात थाने से एक एएसआई सत्येन्द्र सिंह और एक हेडकांस्टेबल ओ.पी. तिवारी की 8-8 घंटे की शिफ्ट में ड्यूटी लगाई गई है। बूथ में बैठे पुलिसकर्मियों को बूथ संचालन के अलावा यातायात की व्यवस्था भी संभालना होती है। प्रीपेड बूथ के ठीक सामने ऑटो स्टैंड है। अधिकांश समय पुलिसकर्मी यातायात व्यवस्था में व्यस्त रहते हैं। इस दौरान ऑटो चालक सवारियों से सीधे संपर्क कर मनमाना किराया लेकर बूथ पर बिना सूचना दिये सवारियों को ले जाते हैं। खास बात यह कि महाकाल मंदिर से 6 मंदिरों के दर्शनों का किराया 250 रुपये फिक्स है लेकिन ऑटो चालक 350 से 500 रुपये तक यात्रियों से वसूलते हैं।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर