Wednesday, February 1, 2023
Homeउज्जैन समाचारकलेक्टर गाइड-लाइन 2023: इस बार भी शहर में कई लोकेशन बढेंग़ी तो...

कलेक्टर गाइड-लाइन 2023: इस बार भी शहर में कई लोकेशन बढेंग़ी तो कुछ मर्ज भी होगी

जिला पंजीयन विभाग ने शुरू किया गोपनीय सर्वे

उज्जैन। जिले में जमीन की कीमत तय करने वाली कलेक्टर गाइड लाइन का 70 फीसदी काम इस बार जनवरी में पूरा हो जाएगा। इसके बाद दावे-आपत्ति फरवरी में लिए जाएंगे। मुख्यालय ने वर्ष 2023-24 की गाइड लाइन में क्या करना है और क्या नहीं, इसके निर्देश भेज दिए हैं। इससे साफ है कि इस बार भी शहर में कई नई लोकेशन बनेंगी। कुछ मर्ज करने की भी स्थिति है।

पिछले साल जिले में 234 नई लोकेशन बढ़ी थी, वहीं 85 लोकेशन मर्ज की गई थी। वर्तमान गाइड लाइन पर रजिस्ट्री कर रहे उप पंजीयकों के मुताबिक शहर का विकास नियमित प्रक्रिया है। इससे साफ है कि इस बार भी नई लोकेशन बनेंगी। कुछ को मर्ज करने की भी स्थिति है। मुख्यालय ने जो निर्देश दिए हैं उस आधार पर नई लोकेशन की मेपिंग का काम जल्द ही पूरा हो जाएगा।

इनका कहना है…. नई गाइड को लेकर सबसे पहले मेपिंग का काम पूरा किया जाएगा। जमीन की वास्तविक कीमत देखने के लिए कुछ क्षेत्रों में गोपनीय सर्वे भी चल रहा है। इसके लिए संबंधित सभी अधिकारियों को मुख्यालय के निर्देश अनुसार काम सौंप दिए गए हैं।
ऋतंबरा द्विवेदी, जिला पंजीयक अधिकारी

विभागों से मांगी नए प्रोजेक्ट की जानकारी
कलेक्टर गाइड लाइन 2023-24 को लेकर जिला पंजीयक अधिकारी ने शहर की सभी निर्माण एजेंसियों से उनके नए प्रोजेेक्ट की जानकारी मांगी है। इसी के साथ अब सभी उप मूल्यांकन समितियां अपने स्तर पर नई गाइड लाइन को लेकर काम शुरू करेगी। इन्हें 15 जनवरी तक सारे प्रस्ताव तैयार करके देना होंगे। इसके बाद शहर के लोगों से दावे आपत्ति लिए जाएंगे।

विकसित क्षेत्रों में रेट भी बढ़ेंगे
जमीन की कीमत तय करते वक्त सभी उप पंजीयक संपदा सॉफ्टवेयर से तैयार होने वाली लिस्ट पर काम करेंगे। यह लिस्ट मुख्यालय से भेजी जाएगी, इसमें वे रजिस्ट्रियां शामिल होंगी जो तय कीमत से ज्यादा पर हुई होंगी। इसके अलावा जिन क्षेत्रों में नए बड़े प्रॉजेक्ट आ रहे हैं या फिर जो रहवास के हिसाब से विकसित हो रहे हैं, वहां भी जमीन की कीमत वर्तमान से कुछ बढ़ाकर तय की जाएंगी।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर